Pages

कोरोना की बढ़ती लहर के चलते दिल्ली और यूपी सरकार ने लिया बड़ा फैसला

नई दिल्ली/लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से कोरोना संक्रमण के बढ़ते संक्रमण में कमी आयी है। कोरोना कर्फ्यू और लॉक डाउन लगाये जाने का ही असर दिख रहा है। योगी सरकार की प्रभावी रणनीति से ही यूपी दूसरे राज्यों की तुलना में 14 वें स्थान पर है। हालांकि अभी भी प्रतिदिन दो हजार के आसपास मामले सामने आ रहे हैं। प्रदेश सरकार ने इस पर और प्रभावी नियंत्रण के लिए एक बार फिर लॉक डाउन को 17 मई सुबह सात बजे तक बढ़ा दिया है।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के हालात अभी भी सुधरे नहीं हैं। हालांकि राहत की बात यह है कि संक्रमण दर में दो सप्ताह में 12 फीसद की कमी आयी है। लेकिन प्रभावी नियंत्रण के लिए लॉकडाउन बढ़ाया जाना जरूरी है। इसी के चलते दिल्ली सरकार ने भी लॉकडाउन बढ़ाकर 17 मई सुबह 5 बजे तक जारी रखने की घोषणा की है। इस दौरान मेट्रो सेवाएं भी बंद रहेंगी।

इसे भी पढ़ें 👇क्लिक करें 

कोरोना की तीसरी लहर से पहले ही 22 बच्चे हुए संक्रमित

उत्तर प्रदेश में 10 मई की सुबह लॉकडाउन खत्म हो रहा था, जिसे एक बार फिर बढ़ा दिया गया। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने राज्य में लॉकडाउन बढ़ाने की जानकारी दी है। बंदी के दौरान पहले की तरह ही सभी पाबंदियां लागू रहेंगी। आवश्यक सेवाओं को छूट मिलती रहेगी। बेवजह घूमने वालों पर सख्ती बरती जाएगी। सरकार का मानना है कि पंचायत चुनाव संपन्न होने के बाद गांवों में संक्रमण का खतरा हो सकता है। इसी के चलते निगरानी समितियां लगातार गांवों में अभियान चला रहीं हैं हालांकि अभी तक करीब दो हजार लोग ही पॉजिटिव मिले हैं। अभी कुछ दिन और गांवों में परीक्षण किया जाएगा तब तक सरकार ने यह कदम उठाया है। 

सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में कोरोना के बढ़ते केस को रोकने के लिए लॉकडाउन को 17 मई सुबह सात बजे तक बढ़ा दिया है। इस दौरान नियम तोड़ने वालों के खिलाफ सख्ती कार्रवाई की जाएगी। इससे पहले कोरोना कर्फ्यू 10 मई सुबह 7 बजे तक कर दिया गया था। इस तरह पूरे हफ्ते लॉकडाउन लगाने का ऐलान किया गया है। सरकार ने सभी जिला प्रशासन को गांवों में वैक्सीनेशन और सैनिटाइजेशन को तेज करने का निर्देश दिया है। लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं, दवा की दुकान समेत ई-कॉमर्स आपूर्ति को चालू रखा जाएगा। 


Post a Comment

0 Comments