Pages

रसायन, शंखपुष्पी, ब्राह्मी के प्रयोग से होता है बच्चों का मानसिक विकास : डॉ. अल्का गुप्ता

लखनऊ। छोटे बच्चों के स्वास्थ्य उत्थान में ब्राह्मी शंखपुष्पी हरड़ आदि रसायन का सेवन अत्यधिक लाभकारी माना जाता है साथ ही साथ बच्चों के शारीरिक विकास के लिए उन्होंने प्रतिदिन सोने से पहले मालिस की सलाह दी। मालिस से बच्चों के शरीर में रक्त का संचार अच्छा हो जाता है, बच्चों बाहर का खाना, पैकेट फ़ूड आदि का सेवन नहीं चाहिए। उत्तर प्रदेश योगासन खेल संघ एवं इंटरनेशनल नेचुरोपैथी आर्गेनाइजेशन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित राष्ट्रीय व्याख्यान माला भाग 3 के चौथे दिवस उक्त बातें थाईलैंड, बैंकॉक से AGAHTS हेल्थकेयर की निदेशक डॉ. अल्का गुप्ता ने कहीं।

 

डॉ. अलका गुप्ता ने इस बात पर जोर देते हुए कहा कि बच्चों को अच्छी अच्छी पुस्तकें पढ़नी चाहिए। अच्छी पुस्तके पढ़ने और उन्हें अध्यात्म की ओर भी प्रेरित होना चाहिए। जिससे कि पूरे विश्व में शांति और सामंजस्य का एक नवीन वातावरण कायम हो सके। इस राष्ट्रीय व्याख्यान माला में उत्तर प्रदेश योगासन खेल संघ के महासचिव आचार्य विपिन पथिक, आचार्य सोनाली धनवानी, INO के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. अनंत बिरादर,  खेल संघ की अध्यक्ष, डॉ. विजयलक्ष्मी जायसवाल, चेयरमैन अशोक सिंह, अभय सिंह, उपाध्यक्ष डॉ. नन्द लाल जिज्ञासु, डॉ. उर्मिला यादव, डॉ. अनिल आनंदम, पूनम भसीन, दीक्षा गुप्ता, आकांक्षा सेंगर, कंचन गुप्ता, अंजली बागपत, अंजू बाला भसीन आदि मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments