Pages

इस युग की नितांत आवश्यकता है विचार क्रांति अभियान

गायत्री ज्ञान मंदिर का ज्ञान यज्ञ अभियान के अन्तर्गत में 342वाँ युगऋषि सम्पूर्ण वाङ्मय साहित्य की स्थापना

लखनऊ। गायत्री ज्ञान मंदिर इंदिरा नगर के विचार क्रान्ति ज्ञान यज्ञ अभियान के अन्तर्गत ‘नव चेतना केन्द्र, महिला मण्डल प्रज्ञा मण्डल जी-176, साउथ सिटी, लखनऊ के 342वाँ पुस्तकालय में गायत्री परिवार के संस्थापक युगऋषि पं. श्रीराम शर्मा आचार्य द्वारा रचित सम्पूर्ण 79 खण्डों का वांड़मय साहित्य की स्थापित किया गया। उपरोक्त यह वाङ्मय साहित्य डॉ. जनक किशोर ने अपने पूर्वजों की स्मृति में भेंट किया। 


इस अवसर पर वाङ्मय स्थापना अभियान के मुख्य संयोजक उमानंद शर्मा ने कहा कि विचार क्रांति अभियान इस युग की नितांत आवश्यकता है क्योंकि ऋषि का सत्साहित्य से समाज के विचारों को बदला जा सकता है। प्रत्येक गायत्री परिजनों को जनमानस में सद्ज्ञान का प्रकाश समाज में पहुँचाने का प्रयास किया जाना चाहिये। ऋषि साहित्य का स्वाध्याय तथा उससे लाभ उठाने का अवसर साउथ सिटी के निवासियों को मिलेगा। साउस सिटी में उपरोक्त केन्द्र में पुस्तकालय, सभागार, नित्य प्रतिदिन यज्ञ होता है, जिसमें डॉ. चिन्मय पाण्डेय जी का आगमन भी हुआ है। निर्मला पाण्डेय इस केन्द्र के केन्द्र-प्रभारी हैं, केन्द्र सुचारू रूप से संचालित है, हम आशा करते हैं कि यह ऋषि का वाङ्मय साहित्य क्षेत्र के लोगों को प्रेरणा प्रकाश देगा।

Post a Comment

0 Comments