Pages

चुनावी घमासान : मुलायम की छोटी बहू ने इस सीट पर मचाया तूफान

लखनऊ। कहते हैं राजनीति में सब जायज है फिर चाहे विचार धारा की बात हो या फिर टिकट की चाह। यूपी विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी नेताओं की दल बदल के खेल में बुधवार को भाजपा ने बड़ा दांव चलते हुए समाजवादी पार्टी के खेमे में सेंध मार दी है। समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव ने आज भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली है। भाजपा में जाने के बाद अपर्णा  विचार धारा बदलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, सीएम योगी की तारीफ की। अपर्णा ने यह भी कहा कि राष्ट्रधर्म उनके लिए सबसे ऊपर है। 


अपर्णा के भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने के बाद लखनऊ की कैंट विधानसभा क्षेत्र की दावेदारी को लेकर घमासान और तेज हो गया है। अभी तक इस सीट से सांसद राजनाथ सिंह के बेटे नीरज सिंह, सांसद रीता बहुगुणा जोशी के बेटे मयंक जोशी, महापौर संयुक्ता भाटिया की बहू रेशू भाटिया सहित कई बड़े नेताओं के बीच टिकट पाने को लेकर रस्साकशी चल रही है। इस बीच डिप्टी सीएम डॉ दिनेश शर्मा का नाम भी इस सीट से घोषित किए जाने की चर्चा है। हालांकि भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने क्या तय किया है उसकी जानकारी किसी को नहीं है। लेकिन राजनीतिक गलियारों में इसी बात की चर्चा है कि लखनऊ की तीन महत्तवपूर्ण सीट के प्रत्याशी घोषित होने पर अगली सरकार की दिशा और दशा तय होगी। 

उधर, अपर्णा ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने के बाद कहा कि मैंने हमेशा राष्ट्र को हमेशा धर्म माना है. हमेशा राष्ट्र के लिए ही फैसला लिया है। यह मेरी नई पारी है. मैं पीएम मोदी, सीएम योगी से बहुत प्रभावित हूं। उनकी नीतियां मुझे नैतिक रूप से भाती हैं, इसलिए मैंने बीजेपी ज्वाइन की। कहा कि यह मेरा निजी विचार है कि पिछले पांच सालों में जिस तरह से प्रदेश में सीएम योगी ने काम किया है, जितनी स्कीम आई हैं वह प्रभावशाली है। प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपर्णा यादव बोलीं, 'सब जानते हैं कि मैं हमेशा से पीएम मोदी से प्रभावित रहीं हूं और मेरे चिंतन में राष्ट्र सबसे पहले है. राष्ट्र का धर्म मेरे लिए सबसे ज्यादा जरूरी है। मैं अब राष्ट्र की आराधना करने निकली हूं, जिसमें मुझे सबका सहयोग चाहिए। 'अपर्णा ने आगे कि वह पीएम मोदी की कार्यशैली से प्रभावित रहती हैं. उन्होंने यहां स्वच्छ भारत अभियान, महिलाओं, रोजगार के लिए चलाई गई स्कीम्स का जिक्र किया। 


अपर्णा के भाजपा में आने पर स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि पश्चिम यूपी में चुनाव होने वाला है और SP के शासन में गुंडागर्दी को इतना महत्व दिया जाता है कि पश्चिम यूपी में कोई बेटी सुरक्षित नहीं थी। अपर्णा को शुरू से लगता था कि योगी के शासन में एक अच्छा सुशासन है। 

उनसे पहले यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि मुलायम सिंह की पुत्रवधू होने के बावजूद भी अपर्णा यादव ने अपने विचार रखे हैं। काफी दिनों की चर्चा के बाद उन्होंने भाजपा में शामिल होने का फैसला लिया। 

Post a Comment

0 Comments