Pages

बाल निकुंज : घर में पड़े बेकार वस्तुओं से छात्राओं ने बनाये आकर्षक मॉडल

लखनऊ। बाल निकुंज इण्टर कालेज मोहिबुल्लापुर गर्ल्स विंग में सोमवार को कक्षाध्यापिका प्रीति त्रिवेदी के मार्गदर्शन में कक्षा-9 इंग्लिश व हिन्दी माध्यम की छात्राओं ने घर में पड़े बेस्ट मैटीरियल से क्राफ्ट के शानदार नवाचार के रूप में खूबसूरत प्रोजेक्ट माॅडल बनाकर सबको आश्चयर्चकित कर दिया। दर्शकों ने बच्चों के हुनर को देखकर कहा कि इतनी सुन्दर चीजें बेकार वस्तुओं से कैसे बन सकती हैं। 

बच्चों ने घरों में बेकार पड़े बोरे, रस्सी, न्यूजपेपर्स, ऊनी कपड़ों से निकाले गये धागे आदि से तैयार किये गये तिपहिया साइकिल, पक्षियों के घोंसले, रंग-बिरंगे फूल, फूलदान व गुलदस्ते बनाया। कक्षा के बच्चों को भी अपनी इस सस्ती तकनीक से ज्ञानवर्द्धन करते हुए रंगों के त्योहार होली के अवसर पर अपने-अपने घरों को सस्ते में सजाने के लिए प्रेरित किया। सहायक अध्यापिका द्वारा वार्षिक परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए बनवाये गये आकर्षक प्रोजेक्ट माॅडलों पर बच्चों को अच्छे अंक दिये तो दूसरी तरफ प्रदर्शनी लगाकर अन्य कक्षाओं के बच्चों को प्रशिक्षित भी किया गया।

इस अवसर पर विद्यालय के प्रबंध निदेशक एच.एन. जायसवाल ने बच्चों के प्रयासों की सराहना की और उन्हें प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार देने की बात कही। जिसमें कक्षा-9 अंग्रेजी माध्यम की रेशमा बानो को उनके ऊन के धागों से बने चिड़िया के घोंसले के माॅडल को प्रथम, कक्षा-9 की ही निशा मौर्या को तार से बने वृक्ष पर चिड़िया के घोसले वाले माॅडल को द्वितीय और कक्षा-9 हिन्दी माध्यम की प्रज्ञा सिंह को न्यूज पेपर के रोल से बनाये गये माॅडल को तृतीय पुरस्कार के लिए चयनित किया गया। 

                                                                   

Post a Comment

0 Comments