Pages

बोरा इंस्टीट्यूट ऑफ एलाइड हेल्थ साइंसेज : लैंप लाइटिंग व सांस्कृतिक कार्यक्रमों संग राममय हुआ अभिव्यक्ति-2022

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं में काफी सुधार हुआ है। मेडिकल कॉलेजों के साथ ही हर क्षेत्र में स्वास्थ्य केंद्र खुल रहे हैं। जल्द ही प्रदेश के सभी जनपदों में मेडिकल कॉलेज भी बन जाएंगे। महामारी के दौर में चिकित्सा सेवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। ऐसे में चिकित्सा संस्थानों की जिम्मेदारी बढ़ जाती है कि प्रशिक्षित स्वास्थ्यकर्मियों को तैयार करें। जिससे स्वास्थ्य के क्षेत्र में आने वाली चुनौतियों का सामना किया जा सके और लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा मिले। 
सीतापुर रोड स्थित बोरा इंस्टीट्यूट ऑफ एलाइड हेल्थ साइंसेज में बुधवार शाम आयोजित लैंप लाइटिंग सेरेमनी अभिव्यक्ति-2022 में उक्त बातें संस्थान के प्रबंध निदेशक व भाजपा विधायक डा. नीरज बोरा ने कहीं। उन्होंने कहाकि बोरा इंस्टीट्यूट के स्टूडेंट्स भी पढ़ाई पूरी कर देश के कोने-कोने में अपनी बेहतर सेवाएं दे रहे हैं जो गर्व की बात है। पीएम नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेडिकल, नर्सिंग एवं पैरामेडिकल क्षेत्र को प्रोत्साहित किया जिससे वर्तमान में ज्यादा से ज्यादा युवा इस क्षेत्र में प्रशिक्षित हो रहे हैं। जो देश ही नहीं विदेशों में भी वह अपनी सेवाएं दे रहे हैं। डा. नीरज बोरा ने कहाकि कोरोना महामारी के चलते पिछले दो वर्षों से सभी आयोजन बंद थे, लैंप लाइटिंग सेरेमनी अभिव्यक्ति भी नहीं हुई थी। लेकिन पीएम व सीएम के अथक प्रयासों से परिस्थितियों में सुधार हुआ है और समारोह आयोजित किए जा रहे हैं। 
निदेशिका बिन्दु बोरा ने छात्र-छात्राओं को भावी जीवन में आने वाली कठिनाइयों और चुनौतियों से अवगत कराया एवं उपस्थित सभी अतिथियों का आभार प्रकट किया। कार्यक्रम में बीएससी नर्सिंग, जीएनएम और एएनएम के छात्र-छात्राओं ने मरीजों की सेवा करने व अपनी जिम्मेदारियों को ईमानदारी से निभाने की शपथ ली। इस अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित अटल बिहारी बाजपेयी चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एके सिंह ने कॉलेज की वार्षिक मैगजीन मेटाफॉरसिस का विमोचन भी किया। उन्होंने छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि नर्से स्वास्थ्य सेवाओं की रीढ़ हैं। असहाय व लाचारों की मदद करने वाली नर्स के योगदान की किसी से तुलना नहीं की जा सकती है। इसलिए अपने दायित्व को बखूबी निभाना होगा। तभी समाज में सम्मान बढ़ेगा। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश के सरकारी एवं निजी मेडिकल कॉलेजों, डेंटल, नर्सिंग एवं पैरामेडिकल कॉलेजों को अब अटल बिहारी वाजपेयी चिकित्सा विश्वविद्यालय से संबद्ध कर दिया गया है। संस्थान की प्राचार्या डा. शीला तिवारी ने संस्थान की प्रगति पर प्रकाश डाला।
सांस्कृतिक कार्यक्रमों से सजी इस शाम में छात्र-छात्राओं ने पारंपरिक नृत्य प्रस्तुत कर उपस्थित अतिथियों एवं अभिभावकों को झूमने पर मजबूर कर दिया। सरस्वती वंदना "माँ सरस्वती शारदे..." से शुरू हुए सांस्कृतिक कार्यक्रम में "देवा श्रीगणेशा, देवा श्रीगणेशा..." पर छात्राओं ने भक्तिमय नृत्य की प्रस्तुति दी। हनुमान चालीसा पर आधारित नृत्य नाटिका के माध्यम से छात्र-छात्राओं ने भक्तिमय प्रस्तुति से माहौल राममय कर दिया और कार्यक्रम स्थल जय श्रीराम के उदघोष से गूंज उठा। वहीं वाहन चलाते समय मोबाइल का प्रयोग करने से होने वाले हादसों के दृश्य का मंचन कर स्टूडेंट्स ने ड्राइविंग के वक्त मोबाइल का प्रयोग न करने की अपील की। समारोह में बोरा इंस्टीट्यूट ऑफ एलाइड हेल्थ साइंसेज (नर्सिंग काॅलेज) में सर्वोच्च अंक पाने वाले छात्र-छात्राओं के साथ ही दो दसक से अधिक समय से अपना योगदान दे रहे अधिकारियों व कर्मचारियों को सम्मानित भी किया गया। इस मौके पर शैलेन्द्र शर्मा "अटल", वत्सल बोरा, सुधांशु मिश्रा, सुनील सिंह सहित कई गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments