Pages

पुलिसकर्मियों व अधिकारियों ने किया महादान

बलरामपुर। रक्तदान महादान है, आपके द्वारा किया गया रक्तदान किसी को नई जिंदगी दे सकता है तो किसी परिवार में खुशियां बिखेर सकता है। लोगों को जीवनदान देकर उनके चेहरे पर मुस्कान बिखेरने के लिए यूथ हॉस्टल्स एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया निरंतर मुहिम चला रहा है। जिसमें वरिष्ठ समाजसेवी व रक्तदानी आलोक अग्रवाल अहम भूमिका निभा रहे हैं। इसी मुहिम के तहत रविवार को इस वर्ष के तृतीय स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन यूथ हॉस्टल्स एसोसिएशन ऑफ़ इंडिया की उत्तर प्रदेश राज्य शाखा की तुलसीपुर इकाई द्वारा निफा व पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सक्सेना, अपर पुलिस अधीक्षक नम्रता श्रीवास्तव एवं स्थानीय संयुक्त चिकित्सालय स्थित ब्लड बैंक के सहयोग से पुलिस लाइंस परिसर में किया गया।

शिविर का शुभारंभ पुलिस क्षेत्राधिकारी तुलसीपुर कुँवर प्रभात सिंह ने स्वयं रक्तदान कर किया। शिविर आयोजक वरिष्ठ समाजसेवी एवं जनपद बलरामपुर में रक्तदान मुहिम की मिसाल बन चुके स्वैच्छिक रक्तदानी आलोक अग्रवाल ने कहाकि कोई भी स्वस्थ व्यक्ति रक्तदान करके किसी परिवार की खुशियों का कारण बन सकता है। रक्तदान के माध्यम से एक ओर जरूरतमंदों की मदद होती है और दूसरी तरफ आप समाज के लिए एक विशेष आदर्श प्रस्तुत करते हैं। उन्होंने बताया कि रक्त का निर्माण किसी भी तरीके से नहीं किया जा सकता है। खून की आवश्यकता होने पर किसी अन्य के द्वारा किए जाने वाले रक्तदान से ही रक्त की पूर्ति सम्भव है। 

व्यर्थ न जाए की हुई नेकी,

कर्मों के फल भी मिलते हैं,

बच जाए अगर एक इंसान तो,
जाने कितनों के चेहरे खिलते हैं!
किसी मरते हुए एक अनजान को,
आज तुम एक जीवनदान करो,
फिर खून का रिश्ता जुड़ जाएगा,
पहले तुम एक बार रक्तदान करो!!

रक्त किसी मशीन से नहीं बनता,
हमें ही करना होगा रक्तदान

नाम नहीं सुकून मिलता है,
किसी अंजान को जब खून मिलता है,
आप भी इस सुकून का मज़ा लीजिए,
किसी अंजान के लिए अपना खून दीजिए!
शिविर में रक्तदान करने वालों में पुलिस सेवा के 13 रक्तदानी शामिल हुए। सभी का विधिवत तरीके से वजन, ब्लड प्रेशर व हीमोग्लोबिन जाँच करने के उपरांत इनसे रक्तदान कराया गया। कुछ जवान शारीरिक रूप या मेडिकली अनफिट होने की वजह से रक्तदान से वंचित रह गए जिनको स्वास्थ्य सम्बंधित जानकारी दी गई जिससे वह अगले रक्तदान शिविर में रक्तदान कर सकें।
शिविर के आयोजन में स्थानीय ब्लड बैंक से डॉ. प्रभात त्रिपाठी, सी.पी. श्रीवास्तव (लैब टेक्नीशियन), अशोक पांडेय (लैब टेक्नीशियन), हिमांशु तिवारी (काउंसलर), अभिषेक, अम्बरीष, सुधांशु एवं विकास सिंह का विशेष व महत्वपूर्ण योगदान रहा, जिनके सहयोग से शिविर सुचारू रूप से सम्पन्न हो सका। विशेष सहयोग के लिए आर.आई. पुलिस लाइंस का हार्दिक आभार प्रकट किया गया। आलोक अग्रवाल ने बताया कि वर्ष 2022 का चतुर्थ रक्तदान शिविर आगामी 4 जून को संयुक्त चिकित्सालय स्थित ब्लड बैंक में आयोजित किया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments