Pages

एकेटीयू : वित्त समिति की बैठक में लिये गये कई महत्वपूर्ण निर्णय

वास्तुकला संकाय बनेगा सेंटर ऑफ एक्सीलेंस

लखनऊ। डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय में शनिवार को वित्त समिति की बैठक कुलपति प्रो. प्रदीप कुमार मिश्र की अध्यक्षता में हुई। बैठक में विभिन्न प्रस्तावें पर चर्चा की गयी। कई प्रस्तावों पर समिति ने निर्णय लिया। वास्तुकला संकाय को सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाने पर मुहर लगी। साथ ही आईईटी के मैकैनिकल इंजीनियरिंग विभाग में सेंटर ऑफ एक्सीलेंस लैब बनाने को हरी झंडी दी गयी।

विश्वविद्यालय के आईटी संसाधनों की ऑडिट कराने के प्रस्ताव को भी समिति ने अपनी सहमति दी। वहीं विश्वविद्यालय में शुरू होने वाले दो नये संस्थान फॉर्मेसी और मैनेजमेंट के लिए बजट को स्वीकृति दी गयी। जिससे अब इन दोनों संस्थानों को जल्द ही शुरू करने की कवायद तेज हो जाएगी।

शोध और विकास के लिए विशेष प्रावधान

वित्त समिति की बैठक में विश्वविद्यालय में शोध और विकास के लिए विशेष प्रावधान किया गया है। जिससे कि शोध को बढ़ावा मिलने के साथ ही विकास पर भी जोर दिया जाएगा। सामाजिक समस्याओं से लेकर अन्य प्रकार के शोध विश्वविद्यालय में होंगे। समिति ने सामाजिक कार्यों को बढ़ावा देने के लिए भी बजट का प्रावधान किया है। विश्वविद्यालय पढ़ाई और शोध के साथ ही सामाजिक कार्यों में भी भागीदारी करेगा। जिससे कि क्लास और कैंपस के बाहर भी विश्वविद्यालय काम कर सकेगा। बैठक में विश्वविद्यालय से संबद्ध संस्थानों में एनसीसी और एनएसएस स्थापित करने के लिए भी स्वीकृति दी गयी। साथ ही आइईटी में हॉस्टल के पुनर्निर्माण को भी हरी झंडी दी गयी। बैठक में प्राविधिक शिक्षा के विशेष सचिव ए दिनेश कुमार, वित्त अधिकारी जीपी सिंह, कुलसचिव नंदलाल सिंह, प्रति कुलपति प्रो. मनीष गौड़, परीक्षा नियंत्रक प्रो. अनुराग त्रिपाठी, प्रो. वंदना सहगल, उपकुलसचिव डॉ. आरके सिंह सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Post a Comment

0 Comments