Pages

सीएलए : मनमोहक प्रस्तुति से बच्चों ने किया मंत्रमुग्ध

लखनऊ। बच्चे मासूमियत के पर्याय हैं और जब मासूमियत को उत्साह के साथ जोड़ा जाता है तो यह सभी के चारों ओर एक जादुई आभा पैदा करता है। सीएलए ने अपने अभिविन्यास और कक्षा प्रस्तुति कार्यक्रम का आयोजन रविवार को अपने सुंदर और उत्तम परिसर में किया, जिसमें अति उत्साहित माता-पिता उपस्थित थे। इस अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि मौजूद ग्रेस अरुण व कांति सिंह ने स्कूल की सकारात्मक आभा और उत्साहजनक वातावरण को देखकर प्रसन्नता जाहिर की।

कांति सिंह ने अतिथियों और अभिभावकों का स्वागत किया और स्कूल की अनूठी विशेषताओं, बच्चे के जीवन और भविष्य में माता-पिता की भूमिका व स्कूल के आगे की राह के बारे में बताया। प्रार्थना, प्रतिज्ञा, तुकबंदी आदि जैसे विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से छोटे बच्चो ने अपने रचनात्मक, कलात्मक और साहित्यिक कौशल को प्रस्तुत किया। उनके कार्यों और प्यारे भावों ने पहले से ही अद्भुत गीतों और तुकबंदी को जोड़ा। बच्चों ने "व्हील्स ओंन द बस, लकड़ी की काठी" आदि गीतों पर नृत्य के साथ दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। कुछ छात्रों ने एकल प्रदर्शन भी किया और अपने आत्मविश्वास का प्रदर्शन किया। माता-पिता अपने उत्साही और कुशल बच्चों को मंच पर आत्मविश्वास से चलते हुए देखकर चकित रह गए। 

इस अवसर पर ग्रेस अरुण ने अभिभावकों को स्कूल की अनूठी विशेषताओं के साथ ही अपने बच्चों के समग्र विकास के लिए सही वातावरण के चयन के महत्व के बारे में भी बताया। कार्यक्रम का प्रशिक्षण एवं समन्वय प्रभारी ऋचा रस्तोगी के नेतृत्व में शिक्षकों के कुशल मार्गदर्शन में सफलतापूर्वक संपन्न हुआ। शिक्षका चित्रा चौहान, इर्तिका खानम, रुचि भट्ट, अथाया शर्मा ने स्कूल की डायरी, वर्दी, समय की पाबंदी आदि विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला। आनंद सिंह और दीपक जायसवाल ने कार्यक्रम के तकनीकी और मंचीय पहलुओं को संभाला और कार्यक्रम को सुचारू रूप से चलाना सुनिश्चित किया।

Post a Comment

0 Comments