Pages

पर्वतीय महापरिषद : सीएम को भेंट की प्रथम हरेला टोकरी

लखनऊ। पर्वतीय महापरिषद लखनऊ के तत्वावधान में 7 से 17 जुलाई तक ‘‘हरेला पखवाड़ा’’ मनाया गया। महापरिषद के अध्यक्ष गणेश चन्द्र जोशी ने बताया कि पर्वतीय महापरिषद इस बार एक विशेष अंदाज में हरेला पर्व को मना रहा है। यह पर्व पर्वतीय समाज के अधिकांश लोगों के घर पर मनाया जाता है, इसे पर्यावरण के संतुलन से भी जोड़ कर देखा जाता है और यह परिवार में सुख समृद्धि के लिये भी मनाया जाता है। इस वर्ष महापरिषद इस पर्व को ‘‘हरेला उत्सव’’ के रूप में मना रही है। हरेला प्रतियोगिता की सभी हरेले की टोकरियों में से श्रेष्ठ तीन टोकरियों को ‘‘शिव पार्वती सम्मान’’ प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय से सम्मानित किया गया। ‘‘शिव-पार्वती सम्मान’’ से  सम्मानित प्रथम हरेला टोकरी पर्वतीय महापरिषद महिला प्रकोष्ठ के दस सदस्यीय शिष्ट मण्डल द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेंट किया गया।

पर्वतीय महापरिषद के महासचिव महेन्द्र सिंह रावत ने बताया कि यह पर्व हमारी संस्कृति को उजागर करते हैं। हरेला शब्द का तात्पर्य हरयाली से हैं, यह पर्व वर्ष में तीन बार आता हैं, पहला चैत मास में दूसरा श्रावण मास में और तीसरा वर्ष का आखिरी पर्व हरेला आश्विन मास में मनाया जाता हैं। श्रावण मास में सावन लगने से नौ दिन पहले आषाढ़ में बोया जाता है और दस दिन बाद श्रावण के प्रथम दिन काटा जाता है। सावन लगने से नौ दिन पहले पांच या सात प्रकार के अनाज के बीज एक रिंगाल को छोटी टोकरी में मिट्टी डाल के बोई जाती हैं। इसे सूर्य की सीधी रोशनी से बचाया जाता है और प्रतिदिन सुबह पानी से सींचा जाता है। 9वें दिन इनकी पाती की टहनी से गुड़ाई की जाती है और दसवें यानि कि हरेला के दिन इसे काटा जाता है। विधि अनुसार घर के बुजुर्ग सुबह पूजा-पाठ करके हरेले को देवताओं को चढ़ाते हैं। उसके बाद घर के सभी सदस्यों को हरेला लगाया जाता हैं। 
इस अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि मौजूद विधान परिषद सदस्य एवं नगर अध्यक्ष भाजपा मुकेश शर्मा का सम्मान व अभिनन्दन किया गया। उनके द्वारा शिव-पार्वती सम्मान के विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए गए। जिनमें नंदा रावत (विकास नगर) प्रथम, दीप्ति जोशी (इंद्रानगर) द्वितीय एवं मंजू पडेलिया (आईटी चौराहा) तृतीय रहे। वहीं सांत्वना पुरस्कार गीता पालीवाल, शिव पार्वती सम्मान प्रभारी रमेश उपाध्याय को दिया गया।
इस अवसर पर पर्वतीय महापरिषद के मुख्य संयोजक संयोजक टीएस मनराल एवं संयोजक केएन चंदोला की उपस्थिति में महिला प्रकोष्ठ द्वारा पर्यावरण एवं हरियाली से सम्बन्धित गीतों की मनमोहक प्रस्तुति की गई। कार्यक्रम में महापरिषद के समस्त पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Post a Comment

0 Comments