Pages

UBI : पुरुष केंद्रित समिति 'एम्पॉवर हिम' का शुभारंभ

एजेंसी। यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने आज अपनी प्रमुख एचआर पहल 'प्रेरणा' के हिस्से के रूप में समर्पित, पुरुष केंद्रित समिति 'एम्पॉवर हिम' का शुभारंभ किया। इस कार्यक्रम का उद्देश्य व्यक्तिगत और साथ ही एक समान वर्तमान चुनौतियों की पहचान कर और उनका सामना करके बैंक में कर्मचारियों के कैरियर मार्ग विविधता को बढ़ावा देना है। यह समिति महिलाओं केन्द्रित समिति की पूरक होगी। जुलाई 2022 में बैंक द्वारा एम्पॉवर हर समिति का आरंभ किया गया था। यूनियन प्रेरणा यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की मानव संसाधन परिवर्तन पहल है, जो बैंकिंग क्षेत्र में प्रक्रियाओं के डिजिटलीकरण, कर्मचारी केन्द्रित हस्तक्षेप और सीखने की क्रांति के माध्यम से उत्पादकता में सुधार करती है।

ए मणिमेखलै (एमडी और सीईओ, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया) द्वारा लॉन्च किये गए इस कार्यक्रम में देशभर से 60 से अधिक एम्पावर हिम समिति सदस्यों के साथ वरिष्ठ प्रबंधन भी इसमें शामिल हुआ।  दिन भर चलने वाले इस कार्यक्रम में रजनीश कर्नाटक (निदेशक), लाल सिंह (मुख्य महाप्रबंधक, एचआर), जीएन दास (महाप्रबंधक, एचआर) भी उपस्थित थे। में ए मणिमेखलै ने सभी के करियर को बढ़ावा देने के लिए ऐसी समर्पित समितियों के महत्व के बारे में चर्चा की। उन्होंने समिति सदस्यों को ऐसे तरीकों के बारे में सोचने को कहा जो उद्योग में नियोक्ता ब्रांड के रूप में बढ़ने और सभी भूमिकाओं में विविधता बढ़ाने में कारगर होगा। उन्होंने व्यक्तिगत घटनाओं के  उदाहरण से सदस्यों को सकरात्मक बदलाव की एक लहर बनने को कहा जो बैंक भर में बहे. उन्होंने सदस्यों को इसे एक ऐसा लॉंच पैड बनाने को कहा जो अधिकतर समावेशन को बढ़ावा देगा और भविष्य के प्रणेताओं को निर्मित करेगा.


इस कार्यक्रम में जाने-माने नेताओं और वक्ताओं ने भी भाग लिया। सह-संस्थापक और कार्यकारी - हरीश सदानी, मेन अगेंस्ट वायलेंस एंड अब्यूस, डॉ सौरभ पाटिल, सीसीई सर्टिफाइड लाइफ एंड एग्जीक्यूटिव कोच और सुश्री रानू खंडेलवाल, व्यवहार प्रशिक्षक और पूर्व सीईओ - ग्लोबल इमेज कंसल्टिंग ने अधिक सफलता के लिए समिति सदस्यों को दिशा प्रदान की। समिति का लक्ष्य स्थानीय समस्याओं को समझना है, काम पर लैंगिक समानता के महत्व को उजागर करना है, कार्य पर सुग्राह्यकरण पर ध्यान देना है। उन्होंने समिति के सदस्यों से आग्रह किया कि बैंक में 70% पुरुष कार्यबल का प्रतिनिधित्व करने के लिए, समिति को प्रभावी ढंग से मौजूदा पिन-पॉइंट पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए और सर्वसम्मति-आधारित, प्रभावी समाधान कार्यक्रम के उद्देश्य का निर्माण करना चाहिए।

Post a Comment

0 Comments