Pages

अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मण्डल ने 3600 क्षय रोगियों को लिया गोद

क्षय रोगी को गोद लेने के लिए निक्षय 2.0 पोर्टल पर कराना होता है पंजीकरण

लखनऊ। प्रधानमंत्री ने देश को साल 2025 तक क्षय (टीबी) रोग से मुक्त करने का लक्ष्य रखा है। इसी क्रम में औद्योगिक संगठन या इकाई, स्वयंसेवी संस्था, राजनीतिक दल या कोई भी व्यक्ति क्षय (टीबी) रोग से ग्रसित मरीजों को गोद लेकर उन्हें पौष्टिक आहार प्रदान कर सकते हैं। इन्हें निक्षय मित्र नाम दिया गया है। इसी क्रम में अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मण्डल की लखनऊ इकाई के प्रतिनिधियों ने मंगलवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में सीएमओ डा. मनोज अग्रवाल के साथ बैठक की। इस बैठक में लखनऊ इकाई की 72 उप ईकाइयों द्वारा 3600 क्षय रोगियों को गोद लिया गया।
इस मौके पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहाकि किसी भी संगठन द्वारा एक साथ इतनी बड़ी संख्या में क्षय रोगियों को गोद लिया जाना क्षय उन्मूलन की दिशा में सकारात्मक कदम एवं अन्य संगठनों तथा संस्थाओं के लिए प्रेरणा का विषय है। 
मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहाकि क्षय रोगियों को गोद लेने की इस योजना से जुड़कर अब जिले के समाजसेवी, व्यापारी पूंजीपति और वह लोग जो स्वेच्छा से टीबी रोग से ग्रसित मरीजों को गोद लेना चाहते हैं, वह निक्षय 2.0 पोर्टल पर जाकर खुद का पंजीकरण कर सकते हैं या शहर में स्थित 28 टीबी इकाई पर जाकर अपना ऑनलाइन पंजीकरण करा सकते हैं। इसी पोर्टल के माध्यम से वह अपने क्षेत्र के मरीजों को अपने अनुसार गोद ले सकते हैं। जिससे गरीब मरीजों को इलाज के दौरान पोषण युक्त आहार उपलब्ध हो सकेगा। वहीं शासन द्वारा भी निक्षय पोषण योजना के तहत इलाज के दौरान 500 रुपए प्रतिमाह क्षय रोगी के खाते में भेजे जाते हैं।
जिला क्षय रोग अधिकारी डा. आर.वी. सिंह ने बताया कि टीबी की जांच और इलाज सभी  स्वास्थ्य केंद्रों पर निशुल्क उपलब्ध है। साल 2025 तक प्रधानमंत्री का भारत को टीबी मुक्त करने का जो उद्देश्य है। उसमें शासन की यह योजना बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग  सभी लोगों से आगे आकर इस कार्यक्रम से जुड़ने का अनुरोध कर रहा है। 
जिला क्षय रोग अधिकारी ने बताया कि जनपद में अभी तक 148 निक्षय मित्रों द्वारा 3903 मरीजों को गोद लिया जा चुका है।
इस मौके पर अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मण्डल के राष्ट्रीय अध्यक्ष संदीप बंसल ने कहाकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के उपलक्ष्य में 17 सितंबर से दो अकटूबर तक सेवा पखवारा मनाया जा रहा है। इस पखवारे के तहत क्षय रोगियों को गोद लेने का निर्णय लिया गया है। जनपद के क्षय रोगियों को गोद लेकर उन्हें बीमारी से निजात दिलाने में मदद करना एक पुण्य का काम है। प्रधानमन्त्री द्वारा देश को साल 2025 तक क्षय रोग से मुक्त करने के अभियान में समाज के सभी लोगों को सहयोग करना चाहिए। सभी से आग्रह है कि वह आगे आयें और क्षय रोगियों को गोद लेकर इस अभियान को सफल बनाने में सहयोग दें। इस अवसर पर जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी योगेश रघुवंशी, व्यापारी प्रतिनिधि अश्वन वर्मा, दीपेश गुप्ता, आकाश गौतम, जावेद बेग और ललित सक्सेना भी उपस्थित रहे।

Post a Comment

0 Comments