Pages

रकम छोटी पर भरोसा बड़ा, चल जाता है इन लोगों के रोजमर्रा का काम

पेंशन के जरिए बुजुर्गों, निराश्रितों और दिव्यांगों की खुशी लौटा रही योगी सरकार

किसी के आगे हाथ न फैलाने से बचा रहता है इनका सम्मान

लखनऊ। बात करीब साल भर पहले की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वृद्धावस्था पेंशन वितरण के दौरान इसके कुछ लाभर्थियों से रूबरू थे। इसी दौरान वह हाथरस की शांति देवी से मुखातिब हुए। मुख्यमंत्री ने पूछा पेंशन का पैसा पाकर उनको कैसा लग रहा है? शांति ने पूरे सन्तोषभाव के साथ जवाब दिया कि पैसा मिल गया है, तो किसी के आगे हाथ नहीं फैलाना पड़ेगा। उस कार्यक्रम के दौरान सोनभद्र की बसंती और सुल्तानपुर के मनीराम के भाव भी कुछ ऐसे ही थे।

यह तो कुछ चंद उदाहरण हैं। पेंशन पाने वाले अधिकांश लोगों के मनोभाव इसी तरह के हैं। पेंशन योजनाओं से लाभान्वित होने वालों की संख्या लगभग 93 लाख है। बात सिर्फ वृद्धावस्था पेंशन की नहीं, निराश्रित महिलाओं, दिव्यांग जनों और वरिष्ठ ट्रांसजेंडर भी सरकार के लिए कुछ इसी तरह सोचते हैं। सरकार की पेंशन संबंधी इन योजनाओं से करीब 92.28 लाख लोग लाभान्वित हो रहे हैं।

दरअसल अपनी जरूरत के लिए किसी के आगे हाथ फैलाना सबसे मुश्किल काम है। एक स्वाभिमानी व्यक्ति के लिए तो और भी। एक आम बुजुर्ग के लिए यह आम बात है। उम्र की मजबूरी और अपनी छोटी-मोटी हर जरूरत के लिए वह अपने घर-परिवार पर निर्भर हो जाता है। अगर इन छोटी-मोटी जरूरतों में कोई मददगार बन जाए तो उसकी खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहता। हर पात्र बुजुर्ग को वृद्धावस्था पेंशन से आच्छादित कर यही खुशी देना चाहती है। दे भी रही है। आंकड़े इस बात के प्रमाण हैं।

 पात्रों को जोड़ने का सिलसिला लगातार जारी

बुजुर्ग एवं बेसहारा लोग खुश रहें। उनकी बाकी की जिंदगी आसान हो इसके लिए योगी सरकार हर पात्र को पेंशन देने के लिए प्रतिबद्ध है। ऐसा कोई भी पात्र पेंशन का लाभ पाने से वंचित न रहे इसके लिए इनको जोड़ने का यह सिलसिला लगातार जारी है। मालूम हो कि मुख्यमंत्री पहले ही कह चुके हैं कि सरकार बुजुर्गों का सम्मान करती है, हमारे लिए वह थाती हैं। उनका अनुभव हमारे लिए अनमोल है। लिहाजा उनकी हर जरूरत का ध्यान देना हमारा फर्ज है। 

मुफ्त राशन, आयुष्मान कार्ड के साथ मदद के लिए एल्डर हेल्पलाइन भी

योगी सरकार अपनी विभिन्न योजनाओं के जरिए पूरी संजीदगी और सेवाभाव से बुजुर्गों के हित में काम कर रही है। इस क्रम में उनको खाने के लिए मुफ्त राशन, बीमारी में मुफ्त इलाज के लिए आयुष्मान भारत कार्ड की व्यवस्था की गई है। बुजुर्गों को कभी भी, कहीं भी मदद पहुचाने के लिए एल्डर हेल्पलाइन 14567 जारी किया गया है।

नहीं लगाने होंगे बैंक के चक्कर मोबाइल पर मिलेगी पेंशन की सूचना

इसी क्रम में सरकार पेंशन पाने वाले बुजुर्गों को एक और सुविधा देने जा रही है। बैंक खाते में पेंशन आयी या नहीं इसके लिए अब इनको बैंक के चक्कर नहीं लगाने होंगे। इसमें सबसे बड़ी दिक्कत पेंशन पाने वाले बुजुर्गों में से सबके नंबर नहीं थे। आधारकार्ड के प्रमाणीकरण के साथ हुए आई-के वाई सी की वजह अब अधिकांश लोगों के नंबर मिल चुके हैं। जिनके आधार का प्रमाणीकरण हो चुका है उनकी पेंशन की सूचना उनके  मोबाइल पर मिलेगी। आधार प्रमाणीकरण का यह काम जारी है। जिनके आधार का प्रमाणीकरण हो चुका है वह https://sspy-up.gov.in/ पर जाकर अपने जिले, ब्लॉक, नगर निकाय, ग्राम पंचायत या नगरीय वार्ड को सेलेक्ट कर अपना रजिस्ट्रेशन नंबर जान सकते हैं।

Post a Comment

0 Comments