Pages

यूपीएमआरसीएल : विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस पर हेरिटेज मेट्रो राइड का आयोजन

इतिहासकार डॉ रवि भट्ट ने किया प्रदर्शनी का उद्घाटन

लखनऊ। आजादी का अमृत महोत्सव के अंतर्गत यूपीएमआरसीएल 11 से 17 अगस्त तक 'स्वतंत्रता सप्ताह' मना रहा है। रविवार को यूपीएमआरसीएल के आलमबाग बस स्टैंड मेट्रो स्टेशन पर लखनऊ के प्रसिद्ध इतिहासकार डॉ. रवि भट्ट ने विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस पर आयोजित प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। डॉ. रवि भट्ट ने मेट्रो स्टेशन के कॉनकोर्स में छात्रों और यूपीएमआरसीएल के कर्मचारियों की सभा को संक्षिप्त भाषण के साथ संबोधित किया। मेट्रो के इतिहास में पहली बार आलमबाग बस स्टैंड से विश्वविद्यालय मेट्रो स्टेशन तक हेरिटेज मेट्रो राइड का आयोजन किया गया। 
14 अगस्त को 'विभाजन विभीषिका स्मरण दिवस’ के रूप में मनाते हुए डॉ. रवि भट्ट ने भारत के विभाजन के इतिहास और कठिन परिस्थितियों पर भी चर्चा की। जिसके तहत दोनों देशों के लोगों को अपने मूल स्थानों से पलायन करने के लिए मजबूर किया गया था। उन्होंने कहा कि 'विभाजन के दौरान कई निर्दोष लोगों की जान चली गई और यह भारत के इतिहास का दर्दनाक अध्याय था। डॉ. रवि भट्ट ने कहा कि, "लखनऊ भारत के स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास में एक विशेष स्थान रखता है। सन 1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में अवध की भूमिका के बारे में उन्होंने विस्तार से प्रकाश डाला। अंग्रेजी हुकुमत के क्रूर शोषण से भारतीय जनता को आजाद कराने के इरादे से शुरु हुआ विद्रोह ने धीरे-धीरे प्रथम स्वतंत्रता संग्रामस का रूप ले लिया।
इसके बाद आलमबाग बस स्टैंड मेट्रो स्टेशन से हेरिटेज मेट्रो राइड की शुरुआत हुई, जिसका विश्वविद्यालय मेट्रो स्टेशन पर समापन हुआ। हेरिटेज राइड के दौरान, डॉ. रवि भट्ट चारबाग, सचिवालय और हजरतगंज मेट्रो स्टेशनों पर छात्रों के समूह और यूपीएमआरसीएल के अधिकारियों के साथ थोड़ी देर के लिए ठहरे और यहां के इतिहास के बारे में बताया। 
लखनऊ मेट्रो द्वारा आयोजित 'हेरिटेज मेट्रो राइड' के संदर्भ में, यूपीएमआरसीएल के एमडी सुशील कुमार ने कहा, "लखनऊ ने 'भारत के स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास' में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। लखनऊ मेट्रो द्वारा आयोजित हेरिटेज मेट्रो राइड छात्रों और लोगों को भारतीयों द्वारा आजादी के लिए दिए बलिदान के बारे में बताने में सफल हुई।
यह हेरिटेज मेट्रो राइड हमें उन स्वतंत्रता सेनानियों के संघर्ष की याद दिलाती है जिन्होंने हमें एक उज्ज्वल भविष्य देने के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी। हेरिटेज मेट्रो राइड हर भारतीय को संदेश देती है कि उन स्वतंत्रता सेनानियों के आदर्शों और मूल्यों को नहीं भूलना चाहिए। हमें अपने राष्ट्र की प्रगति और भलाई के लिए इन मूल्यों को अपने व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन में लागू करना चाहिए।

Post a Comment

0 Comments