Pages

2022 की पहली सुबह 12 लोगों के लिए बनी काल, माता वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़ से 14 घायल

वीओसी डेस्क। नए साल 2022 की पहली सुबह दुःखद घटना लेकर आयी। जम्मू-कश्मीर के माता वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़  होने से 12 श्रद्धालुओं की मौत हो गई है जबकि 14 घायल हो गए हैं। यह हादसा सुबह करीब पौने तीन बजे हुआ। त्रिकुटा पहाड़ियों पर स्थित मंदिर के गर्भगृह के बाहर भगदड़ होने से यह घटना हुई। हादसे की जानकारी होते ही मौके पर वरिष्ठ अधिकारी और श्राइन बोर्ड के प्रतिनिधि ने स्थिति का जायजा लिया और घायलों को अस्पताल भेजकर उपचार कराया जा रहा है। 

नए साल की शुरुआत के मौके पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं। इस बार यह संख्या करीब दो लाख थी। आने जाने वालों की लाइन अलग अलग नहीं थी। भक्तों की भारी भीड़ वैष्णो देवी भवन में जमा हो गई। 

वरिष्ठ अधिकारियों ने पुष्टि की है कि भगदड़ में 12 तीर्थयात्रियों की मौत हो गई और कम से कम 14 अन्य घायल हुए हैं। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भगदड़ की घटना पर दुख जताया है. उन्होंने उप राज्यपाल मनोज सिन्हा और केंद्रीय मंत्रियों जितेंद्र सिंह और नित्यानंद राय से बात की और हालात का जायजा लिया। 

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि यह जानकर बहुत दुख हुआ कि माता वैष्णो देवी भवन में एक दुर्भाग्यपूर्ण भगदड़ ने भक्तों की जान ले ली। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है। मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

भगदड़ में जान गंवाने वालों के परिजनों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2-2 लाख रुपये और सभी घायलों को 50-50 हजार रुपये की अनुग्रह राशि देने का पीएम मोदी ने ऐलान किया है। उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने भी मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया है। उप राज्यपाल के दफ्तर ने सभी घायलों का इलाज श्राइन बोर्ड की तरफ से कराए जाने का भी ऐलान किया है।

BSP प्रमुख मायावती ने ए एन आई को दिए बयान में कहा वैष्णो देवी मंदिर में दर्शन के दौरान हुए हादसे में कई लोगों की मौत हो गई और बड़ी संख्या में लोग बुरी तरह घायल हो गए। मीडिया के माध्यम से अब तक जो तथ्य सामने आ रहे हैं, उसमें सरकार की ज़्यादा लापरवाही नज़र आ रही है। सरकार इस पर गंभीरता से चिंतन करे। 

Post a Comment

0 Comments