Pages

Showing posts with the label संस्कृतिShow all
हमें अपनी संस्कृति पर गर्व होना चाहिए - आचार्य शान्तनु

लखनऊ। महानगर रामलीला मैदान में चल रहे श्रीरामकथा के अष्टम दिन मंगलवार को आचार्य शान्तनु जी महाराज ने भरत चरित्र की कथा सुनाते हुए कहाकि "जग जप राम राम जप जेहि", अर्थात भगवान स्वयम भरत जी का स्मरण करते है। मानस में भरत ज…

परीक्षा से नहीं प्रतीक्षा से मिलते हैं परमात्मा : आचार्य शान्तनु

लखनऊ। भगवान को पाने के लिए बस उन्हें पुकारो और प्रतीक्षा करो। मैया शबरी, अहिल्या ने पूरे जीवन भगवान की प्रतिक्षा की और अंततः भगवान उनके पास स्वयं जाकर उनको दर्शन दिए है। महानगर रामलीला मैदान में चल रहे श्रीराम कथा के सप्तम दिवस स…

राम को पाना है तो खुद को बदलना होगा - साध्वी ऋतम्भरा

भारत के ध्वस्त मन्दिरों की पुनर्प्रतिष्ठा का संकल्प लें हिन्दू सागर की छाती पर रामसेतु है प्रेम की पराकाष्ठा : साध्वी ऋतम्भरा लखनऊ। "राम को पाना है तो बंदे खुद को बदलना होगा, धर्म युद्ध में तुझको अंगारों पर चलना होगा...&q…

राम के पदचिह्नों पर चलकर बदलें इतिहास : साध्वी ऋतम्भरा

राम कथा के छठवें दिन भरत मिलाप देख भावुक हुए श्रद्धालु केन्द्रीय मंत्री निरंजन ज्योति समेत सांसद ने लिया आशीर्वाद  लखनऊ। लखनऊ में चल रही रामकथा के छठवें दिन साध्वी ऋतम्भरा ने भारत का आह्वान करते हुए कहा कि राम के पदचिह्नों पर चलक…

भगवान के भजन में मन लगाए - आचार्य शान्तनु

लखनऊ। महानगर रामलीला मैदान में चल रही श्रीराम कथा के द्वितीय दिवस बुधवार को आचार्य शांतनु जी महाराज ने कहा कि इस धरा धाम पर जब जब असुरों के अत्याचार बढ़ते है, तब तब प्रभु अवतार लेकर भक्तो को उनके संताप से मुक्त करते है। भगवान की …

रामायण पराई स्त्री को मातृ भाव से देखने की सीख देता है - साध्वी ऋतम्भरा

त्याग की मूर्ति हैं रामायण के पात्र : साध्वी ऋतम्भरा कथा का पांचवां दिन : श्रीराम वनवास और केवट प्रसंग सुन भाव विभोर हुए श्रद्धालु लखनऊ। वानप्रस्थ जिम्मेदारियों से मुक्ति का पर्व है। मिल्कियत रखो और मालकियत छोड़ दो। जीवन का उत्तरा…

भव्य कलश यात्रा संग महानगर रामलीला मैदान में श्रीरामकथा शुरू

लखनऊ। भगवान की असीम कृपा से ही हम सब सन्मार्ग की ओर प्रेरित होते है। माता पार्वती के शंका समाधान करते हुए महादेव ने बताया कि देवी ईश्वर सगुण भी है और निर्गुण भी। भक्त जिस रूप में चाहता है प्रभु उसी रूप में भक्तों को दर्शन देते है…

जब भाव प्रबल होता है तो शब्द छोटे पड़ जाते हैं - साध्वी ऋतम्भरा

आंखों से पता चलती है चित्त की दशा : ऋतम्भरा कथा का चौथा दिन : पारम्परिक संगीत के साथ हुआ श्रीराम विवाह लखनऊ। "सिया जी के मिथिला नगरिया मनोहर लागे..." जैसे गीतों पर भक्त जमकर झूमे। वहीं महिलाएं डांडिया संग थिरकती दिखी। …

लक्ष्मणनगरी के महानगर रामलीला मैदान में श्रीरामकथा 28 दिसंबर से

लखनऊ। लक्ष्मण नगरी में प्रभु श्रीराम की शौर्यगाथाये गूंज रही हैं। एक ओर जहां सेवा अस्पताल परिसर सीतापुर रोड स्थित रेवथी लॉन में चल रही श्रीराम कथा में साध्वी ऋतम्भरा प्रभु श्रीराम की महिमा का गुणगान कर रहीं हैं। वहीं महानगर रामल…

सत्य दर्शन के लिए ज्ञान का प्रकाश जरुरी : साध्वी ऋतम्भरा

नहीं भुला सकते गुरुपुत्रों का बलिदान : ऋतम्भरा राम कथा का तीसरा दिन : उपमुख्यमंत्री समेत विशिष्टजन हुए शामिल राम जन्म की झांकी देख जयकारों से गूंजा पाण्डाल   लखनऊ। सत्य को देखने के लिए निरावरण आंखें चाहिए। रामकथा के दर्पण से हम स…

एक दूसरे के पर्याय हैं भारत और राम : साध्वी ऋतम्भरा

चिरंजीवी है सनातन संस्कृति : साध्वी ऋतम्भरा हमारे यहां जन्म जन्मान्तर तक साथ रहने की निष्ठा है  शिव-पार्वती विवाह का दिव्य अनुष्ठान : राम कथा के दूसरे दिन गूंजा मंगल गान लखनऊ। कुछ पापी नेताओं को राम के होने का प्रमाण चाहिए। उन्हे…

जय श्रीराम के उद्घोष पर तिलमिलाती हैं दानवी भावनाएं : साध्वी ऋतम्भरा

राममय हुआ रेवथी लॉन, गूंजते रहे जयश्रीराम के जयकारे अलौकिक युग नायक हैं राम : साध्वी ऋतम्भरा धर्म के साक्षात विग्रह हैं श्रीराम : साध्वी ऋतम्भरा बारह सौ साल बाद पकड़ी ध्वजा को गिरने न देना : साध्वी ऋतम्भरा रामायण यात्रा के साथ सात…

रामायण की शोभा यात्रा संग कथास्थल पहुंचेंगी साध्वी ऋतम्भरा, सुनायेंगी श्रीराम की शौर्यगाथा

सात दिवसीय श्रीरामकथा 25 से, साध्वी ऋतम्भरा की अगुवानी को लक्ष्मण नगरी तैयार लखनऊ। श्रीराम मन्दिर आन्दोलन में अहम भूमिका निभाने वालीं सुविख्यात सन्त पूज्य दीदी मां साध्वी ऋतम्भरा लक्ष्मण नगरी में श्रीराम की शौर्यगाथा सुनाएंगी। स…

विश्वनाथ मंदिर से ढोल नगाड़े संग भक्तिमय माहौल में निकली कलश यात्रा

13 से 19 दिसंबर तक होगी श्रीमद् भागवत कथा एवं रासलीला लखनऊ। ‘‘जय सियाराम जय जय सियाराम...’’, ‘‘डूबतो को बचा लेने वाले मेरी नैया है तेरे हवाले...’’ जैसे भजनों संग पीला वस्त्र धारण किये महिलाएं सिर पर मंगल कलश लेकर निकली तो माहौल …

लखनऊ में इस बार छठ पूजा में अलग दिखेगा रंग, गोमती किनारे सूरज की किरणों संग होगा उमंग

लखनऊ। सूर्य उपासना व लोक आस्था के पावन महापर्व छठ पूजा की रौनक दिखने लगी है। 8 नवम्बर को नहाय खाय के साथ चार दिवसीय महापर्व छठ पूजा का आगाज होगा। छठ पूजा की शुरुआत कार्तिक शुक्ल की चतुर्थी तिथि से होती है और सप्तमी तिथि को अरुण …

विश्‍वास से विकास तक नई अयोध्‍या का अनमोल सफर

राम मंदिर निर्माण से अयोध्या के लिए कई संभावनाओं के कपाट खुले : सीएम यूपी आध्यात्मिक नगरी के तौर पर आस्था का बनी केंद्र बिंदु पांच साल पहले सूनी पड़ी अयोध्या में लौटी रौनक राजा राम को मिला दरबार, संतों की तपस्या का योगी सरकार ने …

Load More That is All