Pages

Showing posts with the label संस्कृतिShow all
गोरक्षनाथ मंदिर : खिचड़ी में चढ़े अन्न के हर दाने का उपयोग करता है मंदिर प्रशासन

मंदिर के भंडारे, वनवासी आश्रम दृष्टिहीन विद्यालय और धर्मार्थ संस्थाओं को भी मिलती है बाबा की खिचड़ी  जरूरतमंदो के घर शादी-ब्याह में भी दिया जाता है चावल-दाल गोरखपुर। गोरक्षनाथ मंदिर, जहां खिचड़ी के दिन चावल-दाल की बरसात होती है। …

रामराज्य के विचार का वैश्विक, सांस्कृतिक केंद्र होगा भव्य श्रीराम मंदिर - राजनाथ सिंह

महर्षि महेश योगी की 106वीं जयंती पर जुटे देशभर के संत लखनऊ।   समाज और राजनीति के प्रति महर्षि महेश योगी के बड़े दूरदर्शी विचार थे, उनका मानना था कि रामराज्य केवल त्रेता की ही चीज़ नहीं है, बल्कि इस कलियुग में भी उसकी स्थापना हो स…

लोक विमर्श : मर्यादा की सीमा में हो नारी की मुखरता

लोक विमर्श का दूसरा दिन महिलाओं के नाम रायपुर की डॉ. मृणालिका व लखनऊ के नागेन्द्र का हुआ सम्मान  लखनऊ। एक ओर कवयित्री सम्मेलन में एक दर्जन महिलाओं ने रचनायें पढ़ीं, वहीं बालिका शिशु के जन्म से विवाह तक की यात्रा पर सांगीतिक प्रस्…

लोक कथाओं व रंगोली प्रतियोगिता संग तीन दिवसीय लोक विमर्श का आगाज

पुरखों की धरोहर है लोक कथाएं : दयाशंकर सिंह महापौर ने किया रंगोली का अवलोकन लखनऊ। तीन दिवसीय लोक विमर्श का पहला दिन लोक कथाओं के नाम रहा। लोक संस्कृति शोध संस्थान द्वारा बौद्ध संस्थान परिसर में आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ मंगलवा…

पूर्वजों की स्मृति में ज्ञान दान सर्वोच्च दान है - उमानंद शर्मा

गायत्री ज्ञान मंदिर का ज्ञान यज्ञ अभियान के अन्तर्गत में 378वाँ युगऋषि ऋषि वाङ्मय की स्थापना लखनऊ। गायत्री ज्ञान मंदिर इंदिरा नगर के विचार क्रान्ति ज्ञान यज्ञ अभियान के अन्तर्गत ‘‘हिमालयन पॉलीटेक्टिक इंस्टीट्यूट कुम्हरवॉ रोड, बीक…

ईश्वर को धन, दौलत व यज्ञों से कोई सरोकार नहीं - आचार्य राघवाचार्य

राघवाचार्य जी महाराज के भजनों पर मंत्रमुग्ध हुए श्रोता लखनऊ। जगतगुरु स्वामी राघवाचार्य जी महाराज ने श्रीमद् भागवत कथा के अमृत वर्षा के अंतिम दिन नव योगेश्वर संवाद, अवधूत उपाख्यान, श्रीमद्भागवत अनुक्रमणिका कथा सुनाई। निराला नगर स्…

जीव परमात्मा का अंश है - स्वामी राघवाचार्य

रुक्मणी विवाह में भक्तों ने पखारे पैर, सुदामा चरित्र सुन हुए भावुक लखनऊ। श्रीमद् भागवत कथा में छठवें दिन गुरुवार को कंस वध, कृष्ण का मथुरा गवन, गोपी संवाद, सुदामा चरित्र, रूक्मणी विवाह आदि की कथाओं का वर्णन निरालानगर स्थित माधव स…

पर्यावरण के संरक्षण और संवर्धन के लिए संवेदनशील होना चाहिए - स्वामी राघवाचार्य

श्रीमद् भागवत कथा के पांचवें दिन गोर्वधन पूजा के साथ कृष्ण जी को लगाया गया छप्पन भोग श्रीकृष्ण की बाल लीला सुनकर मंत्रमुग्ध हुए श्रोता लखनऊ। निरालानगर स्थित माधव सभागार में मानसरोवर परिवार द्वारा आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के पंचम …

भगवान श्रीकृष्ण जन्मोत्सव में जमकर झूमें भक्त

लखनऊ। निरालानगर स्थित माधव सभागार में मानसरोवर परिवार द्वारा आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के चतुर्थ दिन की शुरुआत हनुमान चालीसा के पाठ उपरांत व्यास पीठ पर विजमान जगतगुरु स्वामी राघवाचार्य महाराज जी आरती मुख्य यजमान महेश गुप्ता, लक्ष…

दूसरों को शांत करने से पहले खुद शांत होना होगा - स्वामी राघवाचार्य

लखनऊ। निरालानगर स्थित माधव सभागार में मानसरोवर परिवार द्वारा आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के तृतीय दिन की शुरुआत हनुमान चालीसा के पाठ उपरांत व्यास पीठ पर विराजमान जगतगुरु स्वामी राघवाचार्य महाराज की आरती मुख्य यजमान महेश गुप्ता, लक्ष…

वैवाहिक नकटा गीतों से सजी लोक चौपाल में लुप्तप्राय पारंपरिक गीतों पर हुई चर्चा

लुप्त होती विरासत, समयाभाव में सिमट रही रस्में  पारंपरिक विरासत का मंगल भाव बचायें : डा. विद्याविन्दु सिंह लखनऊ। लोक संस्कृति शोध संस्थान द्वारा आयोजित लोक चौपाल के दौरान सिमट रही वैवाहिक रस्में और लुप्तप्राय पारंपरिक गीतों पर च…

संतों से ही प्राप्त हो सकता है वेद का ज्ञान - स्वामी राघवाचार्य

संगीतमय श्रीमद् भागवत कथा का सुमिरन करने उमड़े भक्त लखनऊ। निरालानगर स्थित माधव सभागार में मानसरोवर परिवार द्वारा आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के द्वितीय दिन की शुरुआत हनुमान चालीसा के पाठ उपरांत व्यास पीठ पर विजमान जगतगुरु स्वामी राघ…

एक मणि के समान है श्रीमद भागवत गीता कथामृत – आचार्य रजनीश भट्ट

लखनऊ। विश्व जागृति मिशन और कबीर शांति मिशन के संयुक्त तत्वावधान में श्रीमद्भगवद्गीता में जीवन दर्शन विषय पर आयोजित तीन दिवसीय सत्संग का शनिवार को समापन हो गया। स्मृति भवन, विपुल खण्ड गोमती नगर में सत्संग 8 दिसंबर से प्रतिदिन अपर…

दुखों से मुक्ति पाने के लिए अवश्य सुननी चाहिये श्रीराम कथा - गोविंद मिश्रा

राज्याभिषेक, पूर्णाहुति व विशाल भण्डारा 8 दिसंबर को लखनऊ।  नारी के दो रूप भक्ति व माया है। माया भक्ति की खोज व प्राप्ति में सबसे बड़ी बाधा है, माया से दूर रह कर ही राम को पाया जा सकता है। माता सीता (भक्ति) को पाने की तीन युक्ति व…

वन की ओर चले प्रभु श्रीराम तो उनके साथ चल पड़ी पूरी अयोध्या

श्रीराम वनगमन का प्रसंग सुन भावुक हुए भक्त   लखनऊ। स्त्री पुरूष के धर्म पालन कराने का प्रमुख अंग है। जिस समय कैकेयी ने राजा दशरथ से दोनों वरदान मांगा तो राम वनगमन की बात सुनकर राजा दशरथ मूर्छित हो गये। सेक्टर-’ए’ सीतापुर रोड यो…

मां-बेटी की तरह होना चाहिये सास-बहु का रिश्ता - गोविंद मिश्रा

"गारी गावें जनकपुर की नारियां, दूल्हा बने रामजी लला...’’ लखनऊ। ‘‘गारी गावें जनकपुर की नारियां, दूल्हा बने रामजी लला...’’, ‘‘देवे पहुनवा का गारी सुरति हमें प्यारी लगे...’’ जब कलेवा का समय आया तो जनकजी के यहां सुन्दर षटरस भोजन…

आकर्षण का केंद्र रही प्रभु श्रीराम विवाह की भव्य झांकी, जमकर झूमें भक्त

लखनऊ। प्रभु श्रीराम सहित चारों पुत्रों संग जब राजा दशरथ बारात लेकर मिथिला नगरी पहुंचे तो भक्तों ने पुष्प वर्षा कर उनका स्वागत किया। वहीं  आज मिथिला नगरिया निहाल सखियां... जैसे गीतों पर भक्त झूम उठे। मौका था विश्वनाथ मन्दिर के 31…

सोंच विचार कर करना चाहिये बच्चों का नामकरण - आचार्य गोविंद मिश्रा

लखनऊ। हमें अपने बच्चों का नाम बहुत ही सोंच विचार कर रखना चाहिये क्योंकि नाम की महिमा होती है और सर्वप्रथम भगवान श्रीराम का नामकरण किया गया। ‘‘सो सुखधाम राम अस नामा। अखिल लोकदायक विश्रामा।। विश्वनाथ मन्दिर के 31वें स्थापना दिवस के…

विश्वनाथ मंदिर : श्रीरामकथा में मनाया गया श्रीराम जन्मोत्सव, जमकर झूमें भक्त

श्रीराम कथा के श्रवण से नष्ट हो जाते हैं सांसारिक पाप  - आचार्य गोविंद मिश्रा लखनऊ। धन धन चैत महिनवा..., जन्में चारो भैया, अवध में बाजे बधइयां..., जन्में राम रघुरैया..." सहित अन्य भजनों पर भक्त जमकर झूमे औऱ प्रभु श्रीराम के…

विश्वनाथ मंदिर : शिव पार्वती विवाह में जमकर झूमे भक्त, जन्में कान्हा

लखनऊ।  दूल्हा बने भोलेनाथ, भूत प्रेतों संग बाराती बने भक्त।विश्वनाथ मन्दिर के 31वें स्थापना दिवस के मौके पर श्रीरामलीला पार्क सेक्टर-"ए" सीतापुर रोड योजना कालोनी में चल रहे मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम कथा के दूसरे दिन गु…

Load More That is All