Pages

Showing posts with the label लेख/रचनाएंShow all
बाल श्रमिक व्यथा

अंतर्राष्ट्रीय बाल श्रमिक निषेध दिवस पर विशेष कुछ सपने हमने भी देखने चाहे, पर मजबूरियों ने रोक दिए। हम बाल श्रमिक भी, पुस्तक पकड़ना चाहे, पर जिम्मेदारियों ने हाथ पकड़ लिया। हमने एक रोटी की चाहत में, अब बचपन अपना भुला दिया, घर में…

क्या 2050 तक डूब जाएंगे मुंबई, कोलकाता, चेन्नई

विश्व पर्यावरण दिवस पर विशेष 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस है। संयुक्त राष्ट्र ने साल 1972 में इसकी घोषणा की थी, लेकिन पहला विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून 1974 को मनाया गया और इस प्रकार दुनियाँ इस साल 48वां विश्व पर्यावरण दिवस मना रही …

पर्यावरण समस्या के समाधान में विश्व का प्रत्येक नागरिक दें योगदान - डॉ. जगदीश गाँधी

विश्व पर्यावरण दिवस पर विशेष लेख डॉ. जगदीश गाँधी, (संस्थापक-प्रबन्धक) सिटी मोन्टेसरी स्कूल, लखनऊ (1) जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र संघ की चेतावनी:- मार्च 2014 में संयुक्त राष्ट्र की एक वैज्ञानिक समिति के प्रमुख ने चेतावनी …

दूध है वरदान

स्त्री की पहचान है दूध, कोख से निकले शिशु से, जाना जीवन -प्राण है दूध। कैल्शियम भरपूर है मिलता, हम सबके लिए वरदान है दूध। बूढ़े, बच्चे और जवान, सभी के लिए अमृत-पान है दूध। सुबह-शाम जो रोज है पीते, उनका रोग-नाशक है दूध। आओ हम इस प…

मन की बात

छाई हर दम अजब उदासी फूलों की कलियां भी बासी कैसा खूनी मंजर है ये  दिल मे चुभता खंजर है ये कोई आ के इसे निकाले बांटे सबको अमृत प्याले बहुत हुआ ये खौफ का मंजर पीर भरी है दिल के अंदर सांसे भी हैं महंगी अब तो सरकारें बहरी हैं अब तो  …

देश मे सुपरहिट : बाराबंकी वैक्सीनेशन माडल

सफलता की कहानी-32 उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में प्रशासन द्वारा अपनाया गया वैक्सीनेशन माडल पूरे देश के लिए एक नजीर बन गया है। बाकी राज्य के प्रशासन और सरकारें इस माडल को अपनाने की कोशिश कर रहे है। बाराबंकी जिले के हर गांव में …

निगरानी समितियों के आगे घुटने टेक रहा कोरोना

सफलता की कहानी-31 निगरानी समितियों के गठन की पहल जो प्रदेश सरकार द्वारा की गयी थी। उसका अब ज़मीन पर असर दिखने लगा है। जिले और ग्रामीण स्तर पर कोरोना की स्थिति में सुधार हो रहा है। क्योंकि निगरानी समिति के ये सदस्य डोर टू डोर जाकर…

शांति, सहअस्तित्व एवं मुक्ति का मार्ग प्रशस्त करता बुद्ध दर्शन - अर्जुन राम मेघवाल

26 मई 2021 को बुद्ध पूर्णिमा हैं। विश्व को मुक्ति का मार्ग और दुःखों से अंत की राह दिखाने वाले भगवान बुद्ध के अवतरण दिवस को बुद्ध पुर्णिमा के रूप में मनाया जाता है। इस दिन लगभग सारे संसार में भगवान बुद्ध और उनकी शिक्षाओं के बारे …

कोरोनाकाल में गेहूं खरीद से किसान खुश

सफलता की कहानी – 30 उत्तर प्रदेश में लगातार बढ रहे लाकडाउन से ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर कोई फर्क न पड़े और कोई भूखा न रहें इसलिये प्रदेश सरकार ने कोरोना काल में किसानों को राहत देने के लिए गेहूं क्रय केन्द्रों के जरिए गेहूं की खरीद…

पहले निकाला ग्रमीणों से डर, फिर लगाई वैक्सीन

सफलता की कहानी -29 वैक्सीन का डर निकलने के लिए नदी में कूदे सरकारी कर्मचारी सरकार द्वारा ग्रामीण इलाकों में कोविड-19 के संक्रमण को कारगर ढंग से रोकने के लिए जहां एक ओर व्यापक जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है वहीं दूसरी ओर लोगों को…

मुफ्त राशन वितरण से कोरोना को मात

सफलता की कहानी -28 लगातार बढ़ रहे लाकडाउन के कारण लोगों के सामने दो जून की रोटी जुटाने की चुनौती है। संकट की इस घड़ी में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत वितरित किये जा रहे मुफ्त राशन से लोग राहत की सांस ले रहे है। र…

बरेली में ओपन औऱ ‘वैक्सीनेशन ऑन व्हील’ की शुरुआत

सफलता की कहानी -27 जहां एक ओर देश में वैक्सीन की कमी है वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा बरेली जिले में ओपन वैक्सीनेशन की शुरुआत की गयी है। नवजवानों, ग्रामीणों और दिव्यांगो के लिये ‘वाक इन’ और ‘आन द व्हील’ वैक्सीनेशन अभिया…

पेड़ लगाओ, प्राणवायु बचाओ

पेड़ लगाओ, पेड़ लगाओ जन- जन तक संदेश पहुंचाओ। प्राणवायु की कमी से, जीवन को बचाना है। घर -घर में पेड़ों को पहुंचाना है। हे मानव इतना क्रूर न बनो, प्रकृति से तुम प्रेम करो। गर क्रूर हुई प्रकृति तो, वीभत्स रूप दिखाएगी। ऐसा न होने दे…

एक माँ की आशा

बेबस सी लाचार सी दिखती मुख से कभी भी कुछ न कहती हर दम उसकी राह है तकती आँखों में एक आस सी जगती एक दिन ऐसा आएगा  बेटा मेरा पढ़ लिखकर बाबू बनकर आयेगा फिर होगा एक पक्का कमरा बर्तन थाली चौका-चूला उस दिन मनेगी खूब दीवाली ढेरों कपड़े ढेर…

मात्र 10 दिनों में सरकार ने लगाया आक्सीजन प्लांट

सफलता की कहानी-25 केंद्र व उत्तर प्रदेश सरकार ने फिरोजाबाज जिले में मात्र 10 दिनों में आक्सीजन प्लांट लगाकर इतिहास रच दिया है। प्रदेश में लगवाए गए तीन आक्सीजन प्लांट में से एक फीरोजाबाद मेडिकल कालेज में लगवाया गया है। इस आक्सीजन …

कोरोना काल में देहदान नेत्रदान मुहिम

सफलता की कहानी -24 ऐसे समय में जब समाज कोरोना बीमारी से परेशान है, प्रयागराज पुलिस ने रक्तदान और देहदान का अभियान चलाकर एक अनूठी मिसाल पेश है। रक्तदान के लिए सार्थक प्रयास करने की वजह से देश भर में विख्यात पुलिस मित्र समूह अब नेत…

निगरानी समितयों से बन रही बात

सफलता की कहानी -23 प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ के एग्रेसिव रणनीति टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट पर हो रहे कार्यो के चलते अब मुरादाबाद के शहर और ग्रामीण क्षेत्रो में एक्टिव और नये मामलों में तेजी से कमी आ रही है। जनपद पूरी तरह से कोरो…

बंदरों और बेसहारा पशुओं को खाना खिला रहे युवा

सफलता की कहानी -22 कोरोना के चलते आज भारत के कई राज्यों में लॉकडाउन है, लोगों को घरों से निकलने की मनाही है। ऐसे में बाहर आवारा जानवरों को खाने की किल्लत हो गई है। लॉकडाउन में न केवल इंसान बल्कि आवारा जानवरों को भी काफी दिक्कतों …

कोरोना के रावण से लड़ रही ‘’यूपी वानर सेना’’

सफलता की कहानी -21 कोरोना के रावण को हराने के लिये उत्तर प्रदेश में एक रिटार्यड पीसीएस अधिकारी अजीत प्रताप सिंह ने एक टीम बनायी है जिसे वानर सेना का नाम दिया गया है। जौनपुर, आजमगढ, लखीमपुर, लखनऊ समेत पूरे उत्तर प्रदेश में शायद ही…

सबको मिली मदद

सफलता की कहानी -20 जनपद हापुड़ में कोरोना महामारी की दूसरी लहर के कारण लगाये गये लाकडाउन में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना लोगो के लिए वरदान साबित हो रही है। जनपद में पीएम गरीब कल्याण योजना के अंतर्गत गरीबो को मुफ्त राशन दिया जा …

Load More That is All