Pages

"ऐसी कृपा कर देना प्रभु जी मेरा भाग्य बदल जाए..."

उड़ान समर वेकेशन फेस्टिवल चौथा दिन

लखनऊ। सामाजिक एवं सांस्कृतिक संस्था उड़ान के तत्वावधान में ऑनलाइन जूम एप पर चल रहे उड़ान समर वेकेशन फेस्टिवल के चौथे दिन बुधवार को महिलाओं ने कोरोना काल में मानसिक रूप से स्वस्थ रहने और अवसाद से दूर रहने के लिए भजनों का सहारा लिया। सरिता सिंह के संयोजन में भक्ति भावना से परिपूर्ण कार्यकम की शुरुआत दीप्ति जोशी ने विघ्न विनाशक भगवान गणेश जी के चरणों में समर्पित भजन से किया। उन्होंने "कभी भोला बनके कभी शंकर बनके प्रभुजी चले आना..." भजन को सुनाकर शंकर जी से कोरोना जैसी महामारी से सबको बचाने की प्रार्थना की।

इसी क्रम में अर्चना यादव ने "ऐसी कृपा कर देना प्रभु जी मेरा भाग्य बदल जाए...", पूजा गुप्ता ने "अच्युतम केशवं कृष्ण दामोदरं...", आभा श्रीवास्तव ने "सूरज की गर्मी से जलते हुए तन को मिल जाये तरुवर की छाया...", प्रतिमा पाठक ने "माँ के नाम माला जपे गा कोई दिल वाला..." और "दुनिया चले न श्रीराम के बिना..." भजन को सुनाकर ईश्वर में आस्था प्रकट की।

इसी श्रृंखला में मोहिनी ढपोला ने "जिस घर में एक दूजे की बात जाए उस घर में न आये कोई परेशानी..." प्रेरणा दायक गीत सुनाया तो वहीं शर्मिला ने अपना गीत भगवान् श्रीकृष्ण को समर्पित करते हुए "ओ कान्हा अब तो मुरली की मधुर सुना दो तान...", पिंकी ने "श्री कृष्ण गोविंद मोहन मुरारी हे नाथ नारायण जय वसुदेवा..." और सरिता सिंह ने "पकड़ लो हाथ बनवारी नहीं तो छूट जायेंगे..." को सुनाकर समस्त विश्व को कोरोना जैसी भयावह महामारी से बचाने की गुहार लगाई।

Post a Comment

0 Comments