Pages

सांसद व रक्षामंत्री, केंद्रीय मंत्री, राष्ट्रीय अध्यक्ष और मुख्यमंत्री घेरे में, लखनऊ, बिहार की स्थिति खराब, जानें क्या है हाल

वीओसी डेस्क। देश भर के विभिन्न राज्यों में कोरोना की स्थिति बेकाबू हो रही है। दिल्ली, महाराष्ट्र हो या फिर उत्तर प्रदेश और बिहार। हर राज्य में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। देश के रक्षामंत्री व लखनऊ से सांसद राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर जानकारी दी कि वह कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं और वायरस के हल्के लक्षण महसूस कर रहे हैं। रक्षा मंत्री ने ट्वीट कर कहा, मैंने आज हल्के लक्षणों के साथ कोरोना पॉजिटिव पाया गया हूं। फिलहाल मैं होम क्वारंटाइन में हूं। मैं उन सभी से अनुरोध करता हूं जो हाल ही में मेरे संपर्क में आए हैं। वे खुद को आइसोलेट करें और कोरोना टेस्ट करवाएं।


उधर, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कोरोना पॉजिटिव पाए गये हैं। सीएम कार्यालय से इस बात की जानकारी दी गयी है। नीतीश चिकित्सकों की सलाह पर होम आइसोलेशन में हैं। सीएमओ ने ट्वीट करके जानकारी दी है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जांच में पॉजिटिव हो गये हैं। चिकित्सकों की सलाह पर वह होम आइसोलेशन में हैं। उन्होंने सभी कोविड अनुकूल सावधानियां बरतने की अपील की है।

जेपी नड्डा भी संक्रमित

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा भी संक्रमित हो गए हैं। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, 'शुरुआती लक्षण दिखने पर मैंने अपना कोविड टेस्ट करवाया। मेरी रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है। अभी मैं स्वस्थ महसूस कर रहा हूं। डॉक्टर्स की सलाह पर मैंने खुद को आइसोलेट कर लिया है। पिछले कुछ दिनों में जो लोग भी मेरे संपर्क में आए हैं, उनसे अनुरोध है कि अपनी जांच करवा लें।' 



केंद्रीय मंत्री अजय भट्ट और कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई भी कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहाकि मेरा स्वास्थ्य ठीक है और मैं क्वारन्टीन हूं। लखनऊ उत्तर विधानसभा क्षेत्र के भाजपा विधायक डा. नीरज बोरा को भी कोरोना ने अपनी चपेट में ले लिया है। पिछले वर्ष कोरोना के दूसरी लहर में भी वह संक्रमित हुए थे।
उत्तर प्रदेश में 24 घंटे में 8 हजार 334 नए केस मिले हैं। एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 33 हजार 946 हो गई है। गाजियाबाद में 1 हजार 385, गौतमबुद्ध नगर में 1 हजार 223 और लखनऊ में 1 हजार 114 मामलों की पुष्टि हुई है। वहीं, 24 घंटे में मेरठ, प्रयागराज, सोनभद्र और बुलंदशहर में 1-1 मरीज की मौत हुई है।
स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, गाजियाबाद में 1385, गौतमबुद्धनगर में 1223, लखनऊ में 1114, मेरठ में 1071 नए कोरोना मरीज मिले है। इसके अलावा वाराणसी में 285, आगरा में 264, मुरादाबाद में 250, कानपुर नगर और गोरखपुर में 205, मथुरा में 185, मुजफ्फरनगर में 161, सहारनपुर में 148, झांसी में 134, बुलंदशहर में 133, अलीगढ़ में 121, शामली में 113, प्रयागराज में 106, बरेली में 88, रामपुर में 70, बागपत में 65, बाराबंकी में 62, अमरोहा में 55, अयोध्या में 52, गाजीपुर में 51, हाथरस में 39, संभल में 38, बिजनौर में 38, हरदोई में 38, हापुड़ में 37, रायबरेली में 35, जौनपुर में 34, शाहजहांपुर में 31 कोरोना के नये मामले सामने आये हैं। 

लखनऊ में संक्रमितों में 692 पुरुष और 422 महिलाएं शामिल हैं। चिनहट इलाके में 189 लोग वायरस की चपेट में आये हैं। अलीगंज में 185, इंदिरानगर में 131, आलमबाग में 124, कैसरबाग में 101 और सरोजनीनगर में 95, एनके रोड में 79 और सिलवर जुबली के आस-पास के 74 संक्रमित हुये हैं।

सरकारी और निजी दफ्तरों में 50 फीसदी कर्मचारी की रहेगी उपस्थिति
प्रदेश के सभी शासकीय/निजी कार्यालयों में (आवश्यक सेवाओं के अलावा) एक समय में 50 फीसदी कर्मचारी ही उपस्थित रहेंगे। अन्य 50 फीसदी वर्क फ्रॉम होम करेंगे। निजी क्षेत्र के कार्यालयों में सेवारत कोई कर्मचारी यदि कोविड पॉजिटिव होता है तो उसे भी न्यूनतम 07 दिनों का वेतन सहित अवकाश मिलेगा।
सभी सरकारी-निजी कार्यालयों में कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना अनिवार्य होगी। बिना स्क्रीनिंग किसी को प्रवेश नहीं मिलेगा।
चुनाव से 10 दिन पहले तक सभी जनपदों के हर नागरिक को वैक्सीन लगाना अनिवार्य। इसके लिए सोमवार शाम तक एक्शन प्लान बनाया जाएगा।
बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट पर टेस्टिंग के दौरान कोविड पॉजिटिव पाए जा रहे लक्षणयुक्त लोगों को संस्थागत आइसोलेशन में रहना होगा। इनके लिए क्वारन्टीन सेंटर बनेंगे।
सरकारी और प्राइवेट सभी अस्पतालों में ओपीडी के लिए आनलाइन अपाइंटमेंट लेना होगा। जरूरी होने पर ही लोग अस्पताल पहुंचे। मरीजों के लिए डॉक्टर टेलीफोन पर उपलब्ध रहेंगे। ऐसे व्यवस्था बनेगी।
15 से 18 आयु वर्ग के बच्चों के कोविड टीकाकरण में 24 लाख 22 हजार से अधिक किशोरों ने टीका कवर प्राप्त कर लिया है। टीके की उपयोगिता को देखते हुए जल्द से जल्द सभी पात्र लोगों का वैक्सीनेशन किया जाए। स्कूलों में विशेष शिविर लगाए जाएं।
जनपदों में इंटीग्रेटेड कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर (आईसीसीसी) को 24़7 एक्टिव रखा जाए। आईसीसीसी में विशेषज्ञ चिकित्सकों का पैनल मौजूद रहे। लोगों को टेलीकन्सल्टेशन की सुविधा दी जाए।

Post a Comment

0 Comments