Pages

पीएम मैसूर पैलेस में करेंगे योग, गार्जियन रिंग होगा आकर्षण का केंद्र

आठवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस-22 में शामिल होंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

योग के बाद डिजिटल और स्टैटिक प्रदर्शनी का करेंगे उद्धाटन

देश भर में 75 प्रतिष्ठित स्थानों पर भी होगा योग, 25 करोड़ दुनियाभर से होंगे शामिल

मैसूर। आठवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस-2022 के जश्न के लिए मैसूर पैलेस ग्राउंड दुल्हन की तरह सज गया है। कर्नाटक सरकार और आयुष मंत्रालय की ओर ये आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी योग दिवस का नेतृत्व करेंगे। केंद्रीय आयुष कैबिनेट मंत्री सर्बानंद सोणोवाल, कर्नाटक के राज्यपाल, मुख्यमंत्री, कई मंत्री, अधिकारी समेत पन्द्रह हजार लोग इस भव्य आयोजन के गवाह बनेंगे। 'मानवता के लिए योग' की थीम पर आधारित योग दिवस की तैयारियां अपने अंतिम चरण में हैं। योग के बाद प्रधानमंत्री लोगों को संबोधित करेंगे। साथ ही गाउंड में लगी योग डिजिटल प्रदर्शनी और आयुष की प्रणालियों पर आधारित स्टैटिक प्रदर्शनी का उद्धाटन करेंगे। इस बार गार्जियन रिंग आकर्षण का केंद्र रहेगा। वहीं आजादी का अमृत महोत्सव के तहत देश के कोने-कोने के साथ 75 प्रतिष्ठित स्थानों पर योग होगा, जिसका नेतृत्व कैबिनेट मंत्री करेंगे।    

गार्जियन रिंग होगा आकर्षण का केंद्र

मैसूर ग्राउंड पैलेस में योग कार्यक्रम के अलावा गार्जियन रिंग आकर्षण का केंद्र होगा, जो एक रिले योग स्ट्रीमिंग कार्यक्रम है। यह विदेशों में भारतीय मिशनों द्वारा आयोजित आईडीवाई कार्यक्रमों की डिजिटल फीड को एक साथ कैप्चर करेगा। इसकी शुरुआत फिजी में उगते सूरज के समयानुसार सुबह 6 बजे होगी। वहीं इसका समापन सैन फ्रांसिस्को में होगा। रिले कार्यक्रम में करीब 80 देश भाग लेंगे। 

डिजिटल प्रदर्शनी भी है खास, सेंसर देगा योग का सुझाव

मैसूर दशहरा ग्राउंड में डिजिटल प्रदर्शनी के जरिये योग के इतिहास, ज्ञान और उसके लाभों को वर्चुअल रियलिटी (वीआर) जैसी नवीनतम तकनीक से प्रदर्शित किया जाएगा। प्रदर्शनी में एक स्टॉल ऐसा है, जहां लोग पहचान कनेक्ट तकनीक के माध्यम से योग मुद्रा को सही ढंग से जान सकेंगे। वहीं योग, प्रशिक्षण, संस्थानों और योग में अनुसंधान और रोग रोकथाम में इसकी प्रभावकारिता में करियर के अवसरों को प्रदर्शित करने के लिए एक 'हील इन इंडिया एंड हील बाय इंडिया' दीवार भी तैयार की गई है। 

यहां स्थिर प्रदर्शनी के साथ स्टॉर्टअप के भी कई स्टॉल लगाए गए हैं। प्रदर्शनी के माध्यम से लोग योग कैसे फायदेमंद है और उन्हें कैसे मनोवैज्ञानिक परीक्षण करने में सक्षम बनाता है, जो उनके लिए योग के प्रकार का सुझाव दे सकता है, इसके लिए बीएमआई के लिए सेंसर भी लगाए गए हैं और आप किस श्रेणी में आते हैं, इसके आधार पर विभिन्न प्रकार के योग का सुझाव दिया जाएगा।

हेडबैंड बताएगा आप सही तरीके से योग कर रहे या नहीं

वहीं आयुष प्रणालियों पर आधारित स्टैटिक प्रदर्शनी में 146 स्टॉल लगाए गए हैं। स्टार्टअप योग चैलेंज के प्रतियोगियों ने भी स्टाॅल लगाया, जहां दिखाया जाएगा कि कैसे तकनीक के रूप में योग का डिजिटलीकरण तेजी से एक चलन बन रहा है। इसके तहत एक स्मार्ट योग बैंड का प्रदर्शन, एक ब्लाउज जो तनाव को माप सकता है और सुझाव दे सकता है कि आपको कौन सा योग करने की आवश्यकता है। वहीं एक हेडबैंड आपको यह बताएगा कि क्या आप सही तरीके से ध्यान कर रहे हैं या नहीं।

100 संगठन, 100 संस्थाएं और 100 शहरों में योग अभ्यास का समापन

वहीं आजादी का अमृत महोत्सव के तहत अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर देश के लगभग 75 प्रतिष्ठित स्थानों पर योग दिवस मनाया जाएगा, जिसका नेतृत्व कैबिनेट मंत्री करेंगे। आईडीवाई-22 में दुनिया भर से करीब 25 करोड़ लोग जुडेंगे। इस बार आईडीवाई-22 के तहत 100 संगठन, 100 संस्थाएं और 100 शहरों में योग अभ्यास का अभियान चलाया गया, जो आज से समाप्त हो गया है।

Post a Comment

0 Comments