Pages

लूम सोलर ने एसएमआईए फंड से जुटाए 20 लाख डॉलर

लखनऊ। उभरती हुई सोलर टेक स्टार्टअप लूम सोलर ने यूएसए आधारित सोशल इन्वेस्टमेंट मैनेजर्स एंड एडवाइजर्स यानी एस एम आई ए ऊर्जा पहुंच राहत फंड आईएआरएफ के तहत 20 लाख डॉलर की धनराशि जुटाई है। यह विश्व बैंक, डीएफसी, बीआईआई, एफएमओ, आईएफसी और अन्य से समर्थित है।

यह फंड लूम सोलर को भारत में लाखों घरों को सतत सौर ऊर्जा के माध्यम से रोशन करने में सहायक होगा। लूम सोलर निरंतर अपनी क्षमता को नए प्रोयोगों और उत्पादों का सृजन कर विकसित कर रहा है। हरियाणा के फरीदाबाद में स्थित यह स्टार्ट अप बाई फेशियल, सोलर पावर पैनल और लिथियम बैटरी के निर्माण से जुड़ा हुआ है। भारत के अतिरिक्त यह 10 वर्ष पुरानी कंपनी 10 देशों को अपने उत्पाद निर्यात कर रही है जिनके उत्तर अमरीका और यूरोप के देश भी शामिल हैं।

 

आज देश के 50,000 से भी ज़्यादा घरों को लूम सोलर के प्रयासों से सौर ऊर्जा उपलब्ध हो रही है। अपने रिहायशी ग्राहकों के लिए यह स्टार्ट अप बेहतर टेक्नोलॉजी के उत्पादों और सेवाओं के साथ एक विशेष इको सिस्टम तैयार कर रहा है। सौर ऊर्जा पूरी तरह परेशानी रहित हो इसके लिए यह अपनी सेवा को बेहतर बना रहा है और तुरत वित्त की व्यवस्था भी कर रहा है। लूम सोलर नए आवासों के साथ साथ पुराने आवासों को भी सौर ऊर्जा के प्रयोग के लिए उत्साहित कर रहा है क्योंकि यह सतत उपलब्ध रहने वाली ऊर्जा है।

लूम सोलर के डायरेक्टर आमोद आनंद का कहना है "लूम सोलर का मकसद देश में बेहतर गुणवत्ता वाली साफ ऊर्जा लाना और इसका विस्तार करना है।  हम समुदायों के लिए ग्रीन एनर्जी समाधान मुहैया करवा रहे हैं और सौर ऊर्जा को हर किसी तक पहुंचाने के लिए अपनी क्षमता बढ़ा रहे हैं। इससे आर्थिक विकास होगा, कार्बन उत्सर्जन में कमी आएगी और पर्यावरण को स्वच्छ बनाए रखने में मदद मिलेगी। एसआईएमए से हमे बड़े सही वक्त पर यह धनराशि मिली है। लूम सोलर ने बड़ी सफलता के साथ सौर ऊर्जा की हजारों रिहाईशी, व्यवसायिक और औद्योगिक ग्राहकों तक पहुंचाया है। हम उम्मीद करते हैं की हम इस दिशा में निरंतर आगे बढ़ते रहेंगे। इससे कार्बन पद चिन्हों को कम करने और प्रकृति का संरक्षण करने का हमारा प्रयास आगे बढ़ेगा। ऐसा हम आधुनिक टेक्नोलॉजी, केंद्रित शोध व अनुसंधान और अपने ग्राहकों की आवश्यकताओं का गहन अध्ययन करने के बाद कर सकेंगे। साथ ही ऊर्जा समाधान भी हम अपने ग्राहकों को दे पाएंगे।

एसआईएमए में भागीदार अरविजागन जी डी ने कहा, सौर ऊर्जा निर्माण के क्षेत्र में लूम सोलर देश की तेजी से प्रगति कर रही कंपनी है। इसने अपनी उत्पादन प्रक्रिया और सेवाओं से अपने लिए एक विशेष स्थान हासिल कर लिया है। लूम सोलर अग्रणी बने रहने के लिए पूरी तरह से एकाग्रचित है क्योंकि यह निरंतर नए प्रयोग कर रहा है और उच्च कौशल के साथ ऊर्जा समाधान उपलब्ध करवा रहा है। बहुत कम इक्विटी आधार से शुरू होने वाला लूम सोलर को उभरते हुए उद्यमियों ने आगे बढ़ाया है। इन्होंने ने अवसरों को नए आयामों के साथ परखा है और बड़ी मेहनत के साथ इस वेंचर को ई कॉमर्स स्पेस में स्थापित किया है।बढ़त दर और मुनाफे के बीच संतुलन को कायम रखते हुए लूम सोलर एक स्वीट स्पॉट की और अग्रसर है। लूम सोलर ने हाल के कोविड  के कारण हुए व्यवधान का सफलता पूर्वक सामना किया है। आयात कर के बदलाव ने भी मार्केट को धीमा किया। इसके बावजूद कंपनी आगे बढ़ी है। हमे विश्वास है कि ईएआर की सपोर्ट इस कंपनी को और मजबूत बनाएगी और यह ऊर्जा के क्षेत्र के अपने लक्ष्य आसानी से हासिल कर पाएगी।

एसआईएमए के ईएआरएफ का उद्देश्य उर्जा सेक्टर की प्रगति को बरकरार रखना है। सब तक क्लीन एनर्जी का लाभ पहुंचाने के लिए 22 देशों की 112 कंपनियों को सहायता उपलब्ध करवाई गई है। ईएआरएफ उन कंपनीज की सहायता कर रहा है जो जलवायु परिवर्तन के प्रभावों को कम करने की दिशा में काम कर रही हैं और लोगों, व्यवसायोंऔर सामाजिक संस्थानों तक  लो कार्बन एनर्जी के साथ पहुंच रहे हैं। 

Post a Comment

0 Comments