Pages

सरकारी केंद्रों पर टीके के नाम पर लिया शुल्क तो होगी कार्यवाही

• 15-17 आयु वर्ग के 93 प्रतिशत किशोर लगवा चुके हैं टीका 

• 85 प्रतिशत से अधिक पात्र वयस्क ले चुके हैं टीके की दोनों डोज 
लखनऊ। अन्य राज्यों में कोविड के बढ़ते मामलों के बीच यूपी में कोविड टीकाकरण और तेज हो गया है। साथ ही राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. अजय घई ने जिला टीकाकरण अधिकारियों को सख्त हिदायत दी है कि टीके के नाम पर किसी भी तरह के शुल्क या वसूली नहीं होने पाए। डॉ. घई ने बताया कि प्रदेश में अब तक 85 प्रतिशत से अधिक पात्र वयस्क टीके की दोनों डोज ले चुके हैं। वहीं 15-17 आयु वर्ग के लगभग 93 प्रतिशत किशोरों ने टीका कवर प्राप्त कर लिया है और 12 से 14 आयु वर्ग के बच्चों में से 25 लाख बच्चों को टीके से प्रतिरक्षित किया जा चुका है। 
डॉ. घई ने बताया कि प्रदेश में 18 वर्ष से अधिक उम्र के हर नागरिक को टीका लग चुका है। 18 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को बूस्टर डोज दिए जाने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। प्रदेश में निजी टीकाकरण केंद्रों पर बूस्टर डोज लगाए जा रहे हैं। सभी पात्र जन बूस्टर डोज अवश्य लगवाएं। 
प्रदेश में कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण बना हुआ है। 30 करोड़ 51 लाख से अधिक कोविड टीके की डोज लगाने और 10 करोड़ 93 लाख से अधिक सैम्पल की जांच करने वाला एकमात्र राज्य उत्तर प्रदेश है। 25 करोड़ की आबादी वाले उत्तर प्रदेश में वर्तमान में 289 कोविड मरीज उपचाराधीन हैं। अन्य राज्यों के सापेक्ष अपने प्रदेश की स्थिति संतोषप्रद है। 


37 नए मरीज मिले, खुलेगा एनसीडीसी केंद्र

यूपी में विगत 24 घंटों के दौरान 90 हजार 250 कोरोना टेस्ट किए गए। इसमें 37 नए कोरोना संक्रमित पाए गए। इसी अवधि में 36 लोग उपचारित होकर कोरोना मुक्त भी हुए। नोएडा-गाजियाबाद में 25 नए केस मिले हैं। वहीं प्रदेश में नेशनल सेंटर फॉर डिज़ीज कंट्रोल (एनसीडीसी) की शाखा खुलने जा रही है। इसके लिए प्रदेश सरकार निःशुल्क भूमि उपलब्ध कराएगी।

Post a Comment

0 Comments