Pages

राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर संगठन ने एमडी को सौंपा ज्ञापन, की ये मांग

लखनऊ। राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर्स संगठन (उप्र) का एक प्रतिनिधिमंडल संगठन के केंद्रीय अध्यक्ष इं. जीवी पटेल के नेतृत्व में यूपीपीटीसीएल के प्रबंध निदेशक पी गुरुप्रसाद से मिला। प्रतिनिधि मंडल ने 23 मई को आये तेज आंधी तूफान बारिश के दौरान 132 केवी मार्टिन पुरवा पारेषण उपकेंद्र से राजभवन विद्युत उपकेंद्र की लाइनों की ट्रिपिंग एवं विधानसभा परिसर में विद्युत व्यवधान पर समग्रता से विचार किए बिना अवर अभियंता एवं अन्य कार्मिकों पर की गई कार्यवाही पर घोर निराशा व्यक्त की।

प्रतिनिधिमंडल ने प्रबंध निदेशक को अवगत कराया कि प्राकृतिक आपदा के बीच संबंधित अवर अभियंता एवं कार्मिकों द्वारा पूरी सजगता एवं तत्परता से कार्य किया गया। जिसके कारण पारेषण छोर पर विद्युत आपूर्ति मात्र 7 मिनट में बहाल कर दी गई। इन सबके बाद भी एक तरफा तरीके से की गई कार्यवाही से अवर अभियंताओं एवं विद्युत कर्मियों का मनोबल बुरी तरह प्रभावित हुआ है और वे अपने आप को उत्पीड़ित महसूस कर रहे हैं। 

प्रतिनिधि मंडल ने इस आपदा में भी जान जोखिम में डालकर त्वरित गति से कार्य करने वाले कार्मिकों के विरुद्ध की गई अन्याय पूर्ण कार्यवाही को तत्काल समाप्त किए जाने और संवेदनशील विद्युत उपकेंद्रों में मानक के अनुसार प्राथमिकता पर कार्मिकों की तैनाती सुनिश्चित करने की मांग की गई।
प्रतिनिधिमंडल के मुताबिक प्रबंध निदेशक पारेषण ने संगठन के पक्ष को गंभीरता से सुना और यह आश्वस्त किया कि मामले का अति शीघ्र परीक्षण कराकर समग्रता से निर्णय किया जाएगा। प्रतिनिधिमंडल में इं. जयप्रकाश (केंद्रीय महासचिव, राविपजूइस), इं. इंद्रेश चौधरी, इं.  पंकज कुशवाहा, इं. अंचल मिश्रा, इं. बृजेश यादव, इं. एमडी सिंह, इं. दीपक सहित संगठन के अन्य पदाधिकारी शामिल रहे।

Post a Comment

0 Comments